नई दिल्ली –  दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने जेएनयू मामले में पीएम नरेंद्र मोदी को खत लिख हस्तक्षेप की मांग की है। उन्होंने पटियाला हाउस कोर्ट में जेएनयू स्टूडेंट को पीटने के आरोपी बीजेपी विधायक ओपी शर्मा पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है। केजरीवाल ने लिखा है कि अगर पीएम एक बार ओपी शर्मा को बुलाकर डांट भी देंगे तो वे भविष्य में कुछ गड़बड़ करने की हिम्मत नहीं करेंगे।

केजरीवाल ने अपने खत में लिखा है कि जिस तरह से जेएनयू को आतंकवादियों के अड्डे के रूप में प्रस्तुत किया जा रहा है, वह खतरनाक है। दिल्ली सीएम ने कहा है कि देश विरोधी गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता, लेकिन इसकी आड़ में निर्दोषों पर कार्रवाई नहीं होनी चाहिए।
kejriwal over jnu
केजरीवाल ने पीएम को खत में जेएनयू की प्रतिष्ठा की दुहाई देते हुए शैक्षणिक संस्थाओं में राजनैतिक दखलंदाजी को रोकने की मांग की है। केजरीवाल ने अपने खत में दिल्ली पुलिस को भी आड़े हाथ लिया है।

केजरीवाल ने लिखा कि दिल्ली का पुलिस-प्रशासन केंद्र सरकार के हाथ में है और जेएनयू मामले में फेल नजर आ रहा है। केजरीवाल ने सवाल उठाया कि देश विरोधी ताकतों के खिलाफ पूरा देश एक है। पर क्या बीजेपी का विरोध करने वाला हर छात्र राष्ट्र विरोधी है?

केजरीवाल ने लिखा है कि मेरा आपको (पीएम) हाथ जोड़कर निवेदन है कि तेजी से फैलती इस आग को तुरंत रोकिए। केजरीवाल ने पीएम से चुप्पी तोड़ने की अपील की है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें