odd even pti l

नई दिल्ली | पिछले तीन दिनों से दिल्ली के आसमान पर स्मोग का घना कोहरा छाया हुआ है. यह आस पड़ोस के राज्यों में किसानो द्वारा जलाई जा रही पुराल की वजह से हो रहा है. हालाँकि दिल्ली में पहले से ही काफी वायु प्रदूषण बढ़ा हुआ है. इसको देखते हुए दिल्ली की केजरीवाल सरकार ओड-इवन जैसी स्कीम भी लेकर आई लेकिन इस बारे के हालात बाद से बदतर है. लोगो को सांस लेने में भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

दिल्ली में बढे हुए प्रदूषण स्तर को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने दोबारा से ओड-इवन शुरू करने का फैसला किया है. इसके अंतर्गत 13 नवम्बर से 17 नवम्बर के बीच दिल्ली की सडको पर आधी गाडी ही चल पायेंगे. ओड तारीख के दिन केवल ओड नम्बर की गाड़ी को सड़क पर लाने की अनुमति होगी और इवन तारीख के दिन केवल इवन नम्बर वाली गाड़ी ही इस्तेमाल की जा सकेगी. ऐसे में दिल्ली के नागरिको को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

खासकर उन लोगो को जो नौकरी पेशा लोग है और अपने वाहन से रोज ऑफिस आते जाते है. हालाँकि केजरीवाल सरकार ने दू पहिया वाहनों को छूट दी है लेकिन काफी ऐसे लोग है जिनके पास कार है लेकिन दू पहिया वाहन नही है. इसे देखते हुए केजरीवाल सरकार का इस बात पर ज्यादा जोर रहेगा की ज्यादातर लोग अपनी निजी गाडी छोड़कर पब्लिक ट्रांसपोर्ट का ज्यादा इस्तेमाल करे.

इसलिए केजरीवाल सरकार ने लोगो को पब्लिक ट्रांसपोर्ट की तरफ़ प्रोत्साहित करने के लिए एक बड़ा फैसला लिया है. राज्य के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने ट्वीट कर जानकारी दी है की ओड-इवन के दौरान डीटीसी और क्लस्टर बसों से यात्रा करने वाले किसी भी यात्री को कोई किराया नही लिया जाएगा. खुद मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा की सरकार का यह फैसला लोगो को पब्लिक ट्रांसपोर्ट की तरफ प्रोत्साहित करेगा.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE