katju

भारतीय सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायधीश जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने उडी हमले के बाद स्थितियों को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार के खिलाफ अब तक का सबसे कड़ा हमला बोला हैं.

काटजू ने पाकिस्तान के खिलाफ “कड़ी निंदा” को मोदी सरकार का प्रमुख हथियार बताते हुए इसे जारी रखने को कहा. इसके पीछे की वजह बताते हुए उन्होंने मोदी सरकार के मत्रियों को हिजड़ा बताते हुए कहा कि ये सभी इसमें माहिर हैं. उन्होंने खुद सवाल किया कि कार्रवाई भी होनी चाहिए या कड़ी निंदा शब्द ही कार्रवाई हैं ?

उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर लिखा, “उड़ी हमले के बाद से ही लोग लोग मुझसे ये लगातार पूछ रहे हैं कि भारत सरकार को पाकिस्तान को उड़ी हमले का कैसे मुँहतोड़ जवाब देना चाहिए, मैं बताता हूँ सरकार को क्या करना चाहिए. सरकार को “कड़ी निंदा” करना जारी रखना चाहिए क्योंकि इस काम में ये सारे हिजड़े बहुत माहिर हैं. लेकिन उसके बाद? वहाँ कुछ कार्रवाई भी होनी चाहिए. या कड़ी निंदा शब्द ही कार्रवाई हैं.”

kat

काटजू ने आगे लिखा, “क्या हमारे महिला प्रतिनिधि ने संयुक्त राष्ट्र में उड़ी हमले पर पाकिस्तान कि कड़ी निंदा नहीं किया? और तब? गालियां, गंदी गालियाँ और न जाने क्या-क्या कहा गया, मिसाल के तौर पर बीसी, एमसी क्योंकि भारत में अपने पसंद के हिसाब से गालियां उपलब्ध है. और अगर आप अभी भी गालियों से संतुष्ट नहीं हैं तो आपको नितिन गडकरी से संपर्क करना चाहिए.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी पर हमला बोलते हुए काटजू ने कहा कि आप साबित कीजिये कि ‘मोदी सरकार मनमोहन सिंह सरकार जैसी पंगु नहीं है. हमें पाकिस्तान के खिलाफ एक सैन्य हड़ताल करना चाहिए या फिर भारत सिंधु नदी समझौता तोड़ देना चाहिए. एक्शन लीजिये गडकरी, एक्शन, एक्शन, यही हर भारतीय चाहता है न कि आपके बड़बोलापन.

kat1

इसके अलावा एक ट्वीट में काटजू ने प्रधानमंत्री को निशाना बनाते हुइए कहा, “एक्शन मिस्टर मोदी एक्शन, सिर्फ बातें नहीं कारवाई भी कीजिये. दिखाइए अपना 56 इंच की छाती.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें