M_Id_420604_Kashmir_Curfew

कश्मीर घाटी में हिजबुल के कमांडर बुरहानी वानी के एनकाउंटर के बाद फैली हिंसा पर काबू पाने के लिए शनिवार को पुलिस ने कथित रूप से स्थानीय समाचार पत्रों को जब्त कर लिया है और उनके वितरण पर रोक लगा दी है. खबरों के मुताबिक कश्मीर के स्थानीय अखबरों के की कॉपियां जब्त करने के अलावा दफ्तरों को सीज कर दिया गया है। केबल टीवी के प्रसारण को भी रोक दिया गया है.

प्रकाशकों ने अपनी वेबसाइटों पर दावा किया कि उनकी प्रिंट प्रतियां जब्‍त कर ली गई और प्रिंटिंग प्रेस में काम करने वाले लोगों को भी गिरफ्तार कर लिया गया. ग्रेटर कश्‍मीर वेबसाइट ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है, ”पुलिसकर्मियों ने ग्रेटर कश्‍मीर की प्‍लेट्स जब्‍त कर ली। साथ ही कश्‍मीर उज्‍मा की 50 हजार कॉपियां जब्‍त कर ली और जी.के.सी. प्रिंटिंग प्रेस को बंद कर दिया”

अंग्रेजी अखबार कश्‍मीर रीडर ने कहा, ”पुलिस ने कश्‍मीर रीडर की कॉपियां सीज कर ली। रात दो बजे पुलिस ने रंगरेठ में प्रिंटिंग प्रेस पर छापा मारा और आठ लोगों को हिरासत में ले लिया” प्रमुख उर्दू दैनिक कश्मीर उज्मा ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उसके कार्यालय पर छापा मारा और अखबार की 50000 प्रतियां जब्त कर लीं और उसके कुछ कर्मचारियों को भी गिरफ्तार कर लिया.

 


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें