kas

कश्मीर घाटी एक बार फिर हिंसा की चपेट में हैं. लगातार चोथे दिन भी विरोध-प्रदर्शनों का दौर जारी हैं. हिंसा में मरने वालों की तादाद 29 पहुंच गई है. 800 के करीब लोग जख्मी हो चुके हैं जिनमें 100 पुलिसकर्मी भी शामिल हैं. 2010 के बाद पहली बार इतने बड़े पैमाने पर हिंसा हुई हैं.

शुक्रवार को हिजबुल कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने को लेकर अलगाववादी नेताओं ने विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिए. भीड़ ने सोपोर में एक पुलिस थाने को आग के हवाले कर दिया. एक पुलिस अधिकारी के अनुसार रविवार को कुलगाम जिले में एक हिंसक घटना में दो लोगों की मौत हो गई। इनके साथ ही इस हिंसा में मरने वालों की संख्या 23 पहुंच गई है, जिसमें एक पुलिसकर्मी भी शामिल है. करीब 250 लोग घायल भी हुए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीर में तनाव की स्थिति को देखते हुए डोभाल को 24 घंटे पहले ही स्वदेश रवाना कर दिया. वह अधिकारियों से घाटी में घटनाक्रमों का नियमित जायजा ले रहे हैं. डोभाल मोदी के साथ उनकी चार देशों की यात्रा पर गए थे और उनका मंगलवार आने का कार्यक्रम था. साथ ही जम्मू-कश्मीर में बिगड़े हालात के चलते गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अमेरिका यात्रा सितंबर तक टाल दी हैं. कश्मीर के हालात पर मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुरक्षा की कैबिनेट कमेटी की बैठक कर रहे हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE