कन्हैया को तिहाड़ की बेहद सुरक्षित समझी जाने वाली जेल नंबर-3 में रखा गया है। इसी जेल में संसद हमले का दोषी अफजल गुरु भी बंद था। इस जेल के जिस सेल में उसे रखा गया है, उसमें सहारा चीफ सुब्रत रॉय सहारा और बिहार के बाहुबली पप्पू यादव भी बंद रह चुके हैं।

JNU kanhiya

कन्हैया को बुधवार रात तिहाड़ जेल लाया गया। जेल अधिकारियों के मुताबिक, कन्हैया को थ्री लेयर सिक्यॉरिटी दी गई है। इसमें जेल स्टाफ, तमिलनाडु स्पेशल पुलिस (टीएसपी) और सीआरपीएफ शामिल हैं। इन स्टाफ की ड्यूटी राउंड द क्लॉक लगाई गई है। इनमें से जेल स्टाफ का एक जवान और एक टीएसपी के जवान को उसके सेल के बाहर तैनात किया गया है।\

इसके अलावा, 12 जवानों की एक क्विक रेस्पॉन्स टीम (क्यूआरटी) भी उसे एस्कॉर्ट करने के लिए तैनात की गई है। कन्हैया अगर सेल के बाहर निकलता या घूमता है तो क्यूआरटी हरदम उसके साथ तैनात रहेगी। जिस सेल में कन्हैया को रखा गया है, उसमें चार कैदियों को रखा जाता है।

कन्हैया के जेल में आने से पहले उसमें अधेड़ और बुजुर्ग कैदी बंद थे। कन्हैया के लिए सेल खाली कराया गया है। इस वॉर्ड नंबर-4 में 20 सेल हैं, जिनमें से एक में कन्हैया बंद हैं। आसपास के सभी सेलों के ऐसे कैदियों को अन्य वॉर्ड में शिफ्ट कर दिया गया है, जिनसे कन्हैया को खतरा हो सकता है।

जेल स्टाफ और टीएसपी के जिन जवानों की ड्यूटी कन्हैया के साथ लगाई गई है, उनका पूरा ट्रैक रेकॉर्ड चेक किया गया है। ऐसा इसलिए किया गया है कि कहीं यह जवान ही कन्हैया को कोई नुकसान न पहुंचा दें।

इसके लिए जेल प्रशासन ने एक अलग से टीम बनाई है। इसी तरह की एक टीम अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के लिए भी बनाई गई है। हालांकि, उसकी टीम में जवानों की संख्या काफी अधिक है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें