kanhiya-1जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने जेएनयू प्रशासन का फैसला मानने से इनकार कर दिया है. न्यूज़ 24 के अनुसार कन्हैया ने कहा कि मामले की जांच के लिए जो कमेटी बनाई गई थी, उसी में गड़बड़ थी. ऐसे में उसके फैसले को मानने का सवाल नहीं उठता.

गोरतलब रहे कि सोमवार को जेएनयू प्रशासन ने कैंपस में 9 फरवरी को हुए घटनाक्रम में यूनिवर्सिटी के नियमों का उल्लंघन करने पर छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार और सौरभ शर्मा पर 10-10 हजार का जुर्माना लगाया गया था तथा उमर खालिद पर 20 हजार रुपए का जुर्माना लगाते हुए एक सेमेस्टर के लिए बाहर कर दिया था साथ ही मुजीब को दो सेमेस्टर के लिए कैंपस से बाहर किया गया था.

आशुतोष पर 20,000 रुपए का जुर्माना और एक साल तक जेएनयू होस्टल में प्रवेश पर बैन लगाया था. साथ ही जेएनयू प्रशासन ने  अनिर्बान को 15 जुलाई तक के लिए सस्पेंड किया हुआ हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें