kanhiya-1जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने जेएनयू प्रशासन का फैसला मानने से इनकार कर दिया है. न्यूज़ 24 के अनुसार कन्हैया ने कहा कि मामले की जांच के लिए जो कमेटी बनाई गई थी, उसी में गड़बड़ थी. ऐसे में उसके फैसले को मानने का सवाल नहीं उठता.

गोरतलब रहे कि सोमवार को जेएनयू प्रशासन ने कैंपस में 9 फरवरी को हुए घटनाक्रम में यूनिवर्सिटी के नियमों का उल्लंघन करने पर छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार और सौरभ शर्मा पर 10-10 हजार का जुर्माना लगाया गया था तथा उमर खालिद पर 20 हजार रुपए का जुर्माना लगाते हुए एक सेमेस्टर के लिए बाहर कर दिया था साथ ही मुजीब को दो सेमेस्टर के लिए कैंपस से बाहर किया गया था.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिम शर्णार्थियो के समर्थन में आये वरुण गाँधी बोले, भारतीय परम्परा के अनुसार जरुर देनी चाहिए शरण

आशुतोष पर 20,000 रुपए का जुर्माना और एक साल तक जेएनयू होस्टल में प्रवेश पर बैन लगाया था. साथ ही जेएनयू प्रशासन ने  अनिर्बान को 15 जुलाई तक के लिए सस्पेंड किया हुआ हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE