कैराना मुद्दा : 15 दिन में यहां से गए लोगों को वापस लाएं, वरना सड़कों पर उतरेंगे- संगीत सोम

बीजेपी विधायक संगीत सोम ने पुलिस प्रशासन की रोक के बावजूद शुक्रवार को मेरठ के सरधना से निकली निर्भय पद यात्रा रद्द हो गई है. सरधना में यात्रा के शुरू होते ही पुलिस ने आकर उन्हें यात्रा रोकने का नोटिस दे दिया. इसके बाद संगीत सोम ने यात्रा वापस लेने का एलान कर दिया है.

संगीत सोम ने कहा कि हम प्रशासन को 15 दिन का अल्टीमेटम दे रहे हैं. अगर इस बीच पलायन नहीं रुका तो बीजेपी कार्यकर्ताओं को वरिष्ठ अधिकारी कैराना तो क्या, कहीं जाने से नहीं रोक पाएंगे. ऊन्होंने कहा, “अधिकारियों ने हमसे कहा कि इससे अागे निषेधाज्ञा लागू की गयी है और अगर हम अागे बढ़ते हैं तो क़ानून व्यवस्था की समस्या हो जाएगी. हम भाजपा के कार्यकर्ता हैं और क़ानून तोड़ना नहीं चाहते. लेकिन, अगर 15 दिनों के अंदर उन लोगों को नहीं वापस लाया गया जिन्हें जबरन घर छोड़ने के लिए मजबूर किया गया तो तो हमें एक बार फिर सड़कों पर उतरने उतरने से कोई रोक नही सकता.”

उधर, समाजवादी पार्टी ने भी ‘सद्भावना यात्रा’ निकाली. लगभग 500 लोगों की इस भीड़ को भी पुलिस ने रोक दिया. वहीं सपा नेता शिवपाल यादव कह रहे हैं कि कैराना से हिन्दुओँ का पलायन हुआ ही नहीं है।. प्रशासन ने किसी भी यात्रा को इजाज़त नहीं दी थी. लिहाजा इसके चलते सरधना में भारी सुरक्षा तैनात की गई है। धारा 144 लगा दी गई.

सपा नेता अतुल प्रधान ने कहा कि संगीत सोम मुजफ्फरनगर दंगा मामले में आरोपी हैं जिनसे कोई उम्मीद नहीं की जा सकती. उन्होंने कहा कि संगीत सोम के कुप्रयास को विफल करने के लिए ही उन्होंने सद्भावना यात्रा निकालने की कोशिश की थी जिसे रोक दिया गया.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें