यूपी के कैराना मामले में सहारनपुर रेंज के डीआईजी एके राघव ने डीजीपी मुख्यालय को भेजी रिपोर्ट में कई खुलासे करते हुए बताया भाजपा सांसद हुकुम सिंह अपने बेटी को सांप्रदायिक ध्रुवीकरण करना चाहते हैं. भाजपा सांसद हुकुम सिंह अपने बेटी को चुनाव लड़वाना चाहते हैं. बेटी की जीत के लिए सांप्रदायिक ध्रुवीकरण का रास्ता अपनाया जा रहा हैं.

11 जून को डीजीपी हेडक्वार्टर को भेजी गई रिपोर्ट में डीआईजी ने बताया कि शामली जिले के कैराना, झिंझाना, कांधला कस्बे में हिंदू और मुस्लिम दोनों समुदाय के लोग रहते हैं. यहां 85 फीसदी मुस्लिम और 15 फीसदी हिंदू आबादी है. आने वाले चुनाव में फायदा उठाने के लिए भाजपा और अन्य सहोयगी दल सांप्रदायिक माहौल बना रहे हैं.

डीआईजी ने रिपोर्ट में बड़ी सांप्रदायिक घटना की भी संभावना जताई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि ये छोटी घटनाएं तुल देने की वजह से बड़ा रूप धारण कर सकती हैं. रिपोर्ट में आगे कहा गया हैं कि एक महिला के किडनेप और हत्या के मामले में हिंदू समुदाय के दो लोगों का नाम आ रहा था लेकिन सिंह ने इन दोनों लोगों का रिपोर्ट से नाम हटाने का दबाव बनाकर इस मामले में मुस्लिमों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है.

गोरतलब रहें कि इस घटना का जिक्र सिंह द्वारा जारी लिस्ट में भी किया गया है, जिसमें कहा था कि ऐसी घटनाएं की वजह से हिंदू लोग कैराना से पलायन कर रहे हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें