बल्लभगढ़ | गुरुवार को दिल्ली से मथुरा जा रही ट्रेन में कुछ लोगो की नफरत ने जुनैद को मौत के घाट उतार दिया. इस दौरान उन्होंने जुनैद और उसके भाइयो को बीफ खाने वाला और अन्य संप्रदायिक टिप्पणीया भी की. उन्होंने उनकी टोपी खींची और दाढ़ी खींची. देश में मुसलमानों के प्रति यह नफरत दिनों दिन बढ़ रही है जिसकी वजह से कई लोग अपनी जान से हाथ धो बैठे है. इसी नफरत की वजह से अपना बेटा खो चुके जुनैद के पिता जलालुद्दीन खान ने पीएम मोदी से अपने मन की बात की है.

और पढ़े -   गौरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा के शिकार लोगो मुआवजा दे राज्य सरकारे- सुप्रीम कोर्ट

हर महीने के आखिरी रविवार को रेडियो पर अपनी मन की बात करने वाले प्रधानमंत्री मोदी से जलालुद्दीन ने कई सवाल पूछे. द टेलीग्राफ से बात करते हुए उन्होंने कहा की मैं मोदी जी से पूछना चाहता हूँ की आखिर देश में मुसलमानों के प्रति इतनी नफरत क्यों है? क्या मेरा बेटा भारतीय नही था? आखिर कब आप इन मामलो पर अपनी चुप्पी तोड़ोगे? कब तक यूँ ही निर्दोष लोग नफरत की भेंट चढ़ते रहेंगे?

और पढ़े -   गुजरात दंगों की जांच करने वाले वाईसी मोदी बने एनआईए प्रमुख

जलालुद्दीन ने आगे कहा की मेरा बेटा भी इसी नफरत की भेंट चढ़ गया. प्रधानमंत्री जी हर महीने अपने मन की बात करते है. मैं उन तक अपने मन की बात पहुँचाना चाहता हूँ क्योकि वो मेरे भी प्रधनामंत्री है. यह मेरे मन की बात है.. परिवार में इतना बड़ा गम होने के बावजूद इस रविवार हमने गाँव वालो के साथ मोदी जी की मन की बात सुनी. हमें उम्मीद थी की वो उनके बेटे की हत्या पर कडा बयान देंगे. लेकिन उन्होंने इस पर एक शब्द भी नही कहा.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमो पर बोले मौलाना, हम 72 भी लाखो पर भारी, कोई माँ का जना नही जो मुसलमानों को बंगाल से निकाल दे

जलालुद्दीन ने खुद को और पुरे समुदाय को असुरक्षित महसूस बताते हुए कहा की हम अपने आप को असहाय महसूस कर रहे है. अगर मोदी जी उस घटना की कड़ी निंदा करते तो पुरे समुदाय का टुटा हुआ भरोसा और मजबूत होता. मैं मोदी जी से कहना चाहता हूँ की वो ये सुनिश्चित करे की मेरे बाकी बचे हुए बेटो का हश्र जुनैद जैसा न हो.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE