झारखंड के जमशेदपुर में बच्चा चोरी की अफवाह के चलते ली गई लोगों की जान को लेकर वरिष्ठ पत्रकार सागरिका घोष को ट्वीट करना महंगा पड़ गया. पुलिस ने उनके खिलाफ FIR दर्ज की है.

उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि  ‘भीड़ पूरे भारत में मुसलमानों का पीछा कर रही है और उन्हें मार रही है, और इन हत्यारों के लिए कोई न्याय नहीं है, भारत सरकार जागो.’ हालांकि सागरिका ने बाद में अपना ट्वीट डिलीट कर लिया और माफी मांगी.

इस ट्वीट को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता मधु पूर्णिमा किश्वर ट्वीट कर कहा कि अगर भारत सरकार सागरिका घोष के खिलाफ कार्रवाई नहीं करती है तो मैं निश्चित रूप से सागरिका घोष के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करूंगी. मधू पूर्णिमा के इस ट्वीट के बाद सागरिका घोष ने अपने ट्वीट को डिलीट कर दिया और माफी मांगी.

सागरिका घोष ने लिखा, ‘मैंने मुसलमानों पर हमले के बारे में अपना ट्वीट डिलीट कर दिया है, और अगर किसी की भावनाओं को चोट पहुंची है तो मैं माफी मांगती हूं, लेकिन मैं साम्प्रदायिक दंगों पर अपनी निगाह बनाए रखूंगी.’

साथ ही उन्होंने लिखा कि मेरे खिलाफ बहुत से लोगों के ने एसआईआर दर्ज करने की धमकी दी. लेकिन मुझे उम्मीद है कि मुसलमानों की हत्या करने वालों के खिलाफ कम-से-कम एक प्राथमिकी दर्ज की जाएगी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE