jnu-nikah

देश की राजधानी में स्थित जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय (जेएनयू) में अब दहेज़ के खिलाफ एक अभियान शुरू किया गया हैं. इस अभियान की शुरुआत के साथ ही बिना दहेज़ के निकाह की रस्म को अदा किया गया. साथ ही दहेज़ विरोधी पोस्टर्स के साथ दहेज़ न लेने और न देने की कसम खाई गई.

JNU के छात्र इम्तियाज़ की शादी में टेंट और खाने के अलावा एक ऐसी भी चीज़ थी, जो न सिर्फ़ लोगों की नज़रों को अपनी तरफ खींच रही थी, बल्कि उनके ज़मीर को भी जगा रही थी. इस शादी की खासियत दूल्हा-दुल्हन के साथ ही टेंट में दिखाई दे रहे वो पोस्टर भी थे, जिन पर दहेज का विरोध करने का एक प्रयास किया गया था.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिम मामले में मोदी पर बरसे मणिशंकर कहा, भारतीय मुस्लिमो को 'कुत्ता' समझने वाले से क्या रखे उम्मीद

nik

इस निकाह में न कोई बैंड था न कोई बारात. जगह-जगह पर निकाह के बारें में शरियत के खिआफ जाकर किए जाने फिजूल कामों की मजम्मत में पोस्टर लगे हुए थे.

nik1

इसके अलावा मेहमानों को हदीस ए नबवी (सल्ल.) के जरिए निकाह की अहमियत को समझाने और गैर शरई कामों से दूर रखने के पैगाम देने की कोशिश की गई.

और पढ़े -   पीएम मोदी को जन्मदिवस पर किसानों से मिले 68 पैसे के चेक


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE