जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) के केन्द्रीय पैनल के लिए हुए चुनाव में यूनाइटेड लेफ्ट ने जीत का परचम लहराया है. सभी चारों पदों पर लेफ्ट ने ही विजय हासिल की.

हरियाणा की रहने वाली गीता कुमारी ने अध्यक्ष पद पर जीत दर्ज की है. गीता इतिहास से एमफिल कर रही हैं. चुनाव नतीजों में बीएपीएसए ने एबीवीपी को तीसरे स्थान पर धकेल दिया.

और पढ़े -   हिन्दू से मुस्लिम बनी दलित दंपत्ति को मिल रही जान से मारने की धमकी, पत्र लिख योगी सरकार से की सुरक्षा की मांग

निर्वाचन पैनल के अधिकारियों के अनुसार चुनाव में कुल 4,639 मत गिरे. अध्यक्ष पद के लिए संयुक्त मोर्चा उम्मीदवार गीता कुमारी विजयी हुईं. बिरसा अंबेडकर फुले स्टूडेन्टस एसोसिएशन (बीएपीएसए) की शबाना दूसरे तथा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) की निधि त्रिपाठी तीसरे स्थान पर रहीं.

गीता कुमारी ने कहा, ‘मैं इस जश्न के मौके का श्रेय जेएनयू के उन छात्रों को देती हूं जो मानते हैं कि यह इस जैसी लोकतांत्रिक जगह को बचाए रखने की जरूरत है. मैंने प्रचार में जेएनयू की सीटों में कटौती, नजीब की गुमशुदगी, नए हॉस्टल और प्रवेश प्रक्रिया से जुड़े मुद्दों को उठाया था.

और पढ़े -   यूपी: गौरक्षक दल की नवरात्रों में मस्जिद के लाउडस्पीकर और मीट की दुकाने बंद कराने की मांग

अध्यक्ष पद के लिए गीता कुमारी ने 1506 वोट लेकर एबीवीपी की निधि त्रिपाठी (1042) को हराया. उपाध्यक्ष के लिए सिमोन जोया खान ने 1876 वोट हासिल कर एबीवीपी के दुर्गेश (1028) को हराया. वहीं महासचिव पद पर दुग्गिराला श्रीकृष्ण  ने 2082 वोट लेकर एबीवीपी के निकुंज मकवाना (975) को और संयुक्त सचिव के लिए शुभांशु सिंह ने 1755 वोट हासिल कर एबीवीपी के पंकज केसरी (920) को मात दी.

और पढ़े -   नहीं रुक रही मोदी सरकार की हादसों वाली रेल, 2 ट्रेनों के पहिए पटरियों से उतरे

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE