नई दिल्ली: जेएनयू में देश विरोधी नारेबाज़ी के आरोपी छात्रों में से दो छात्रों, उमर ख़ालिद और अनिर्बान, की पुलिस रिमांड आज ख़त्म हो रही है। सुरक्षा वजहों से इन दोनों को आज कोर्ट की बजाय पुलिस स्टेशन में ही जज के सामने पेश किया जाना है।

अलग अलग कमरों में की थी पुलिस ने पूछताछ
कन्हैया कुमार पर पटियाला हाउस कोर्ट में हमले के बाद ऐहतियातन ऐसा किया जा रहा है। मंगलवार को देर रात उमर और अनिर्बान ने पुलिस के सामने सरेंडर किया था। देशद्रोह का आरोप झेल रहे जेएनयू छात्र उमर ख़ालिद और अनिर्बन भट्टाचार्य से अलग अलग कमरों में पूछताछ की गई है।

और पढ़े -   बदले अठावले के सुर: पहले कहा था - गौमांस खाना सबका अधिकार, अब बोले - नहीं खाना चाहिए

पुलिस सूत्रों ने यह जानकारी एनडीटीवी को दी है और बताया कि युनिवर्सिटी में हुए विवादित कार्यक्रम को लेकर दोनों ही छात्रों ने अलग अलग बयान दिए हैं। गौरतलब है कि उमर ख़ालिद, अनिर्बन और जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की 9 फरवरी को जेएनयू परिसर में हुए अफज़ल गुरु से संबंधित कार्यक्रम में कथित भूमिका को लेकर गिरफ्तारी की गई है।

और पढ़े -   सिमी सदस्यों के एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट का मोदी और शिवराज सरकार को नोटिस

कन्हैया कुमार को अज्ञात जगह ले जाया गया
देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजे जाने के बाद दिल्ली पुलिस की एक टीम उसे तिहाड़ जेल से अज्ञात जगह ले गई है। कन्हैया को किस जगह ले जाया गया है उसका खुलासा किये बिना एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया ‘छात्र नेता को पूछताछ के लिए रात में साढ़े आठ बजे तिहाड़ जेल से ले जाया गया।’ कन्हैया को 12 फरवरी को अरेस्ट किया गया था। (NDTV)

और पढ़े -   2016 में 11,400 तो 2015 में आंकड़ा 12,602 किसानों ने की आत्महत्या: केन्द्रीय कृषि मंत्री

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE