नई दिल्ली: जेएनयू में राष्ट्र विरोधी कार्यक्रम का आयोजन करने के लिए देशद्रोह और आपराधिक साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार जेएनयू के स्टूडेंट्स यूनियन के अध्यक्ष कन्हैया कुमार जब पेशी के लिए पटियाला हाउस कोर्ट पहुंचे तो वकीलों के एक समूह ने उन पर हमला कर दिया। हालांकि पुलिस ने उन्हें बचा लिया।

जेएनयू विवाद : पेशी के लिए कोर्ट पहुंचे कन्हैया कुमार पर वकीलों ने फिर किया हमलाइससे पहले आज पटियाला हाउस कोर्ट में वकीलों के दो गुट बन गए और वे आपस में भिड़ गए। एक गुट कन्हैया के पक्ष में है दो दूसरा उसके खिलाफ। इससे पहले एक पत्रकार तारिक अनवर पर भी वकीलों ने हमला किया था। तारिक का कहना है कि पुलिस वहां मौजूद थी, लेकिन उन्होंने कोई एक्शन नहीं लिया।

और पढ़े -   मालेगांव ब्लास्ट: कर्नल पुरोहित के बाद अब दो और आरोपियों को मिली जमानत

आरोपियों की पहचान के लिए कन्हैया से पूछताछ जरूरी
पिछली सुनवाई के दौरान पुलिस ने कहा था कि वह इस बात का पता लगाना चाहती है कि कहीं इनका किसी आतंकी संगठन से लिंक तो नहीं है। जेएनयू कैंपस में 9 फरवरी को एक कार्यक्रम के दौरान राष्ट्र विरोधी नारे लगाते हुए देखे गए आरोपियों की पहचान के लिए कन्हैया से हिरासत में पूछताछ जरूरी है।

और पढ़े -   दुर्गा प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगाने के ममता सरकार के आदेश पर हाई कोर्ट सख्त, पुछा सत्ता है तो मनमाना आदेश पारित करेंगे

दिल्ली पुलिस की खूफिया रिपोर्ट
जेएनयू मामले में दिल्ली पुलिस ने पूरी घटना की परिस्थितियों के आधार पर रिपोर्ट बनाई है। इस रिपोर्ट में यूनिवर्सिटी की गतिविधियों को लेकर जानकारी दी गई है। रिपोर्ट में लिखा गया है कि अफजल गुरु की बरसी मनाई जा रही थी। यह भी कहा गया है कि आपत्तिजनक नारे लेफ्ट से जुड़े छात्र संगठनों ने लगाए। रिपोर्ट में कहा गया है कि भरोसेमंद सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार वहां मौजूद था। (NDTV)

और पढ़े -   बड़ी खबर: 600 करोड़ में बिका एनडीटीवी, बीजेपी नेता अजय सिंह होंगे नए मालिक

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE