जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में 9 फरवरी को लगे देश विरोधी नारे का न्यूज चैनलों द्वारा फर्जी वीडियो दिखाए जाने के मुद्दे पर दिल्ली सरकार सख्त हो गई है। सरकार ने जेएनयू मामले में फर्जी वीडियो चलाने के आरोप में तीन चैनलों के खिलाफ पटियाल हाउस कोर्ट में शिकायत दर्ज करवाई है।

JNU students leader Kanhaiya Kumar

इस मामले में अब अगली सुनवाई 25 अप्रैल को होगी। यहां पर बता दें कि दिल्ली सरकार ने जेएनयू विवाद के सिलसिले में कराई गई मजिस्ट्रेट जांच के आधार पर तीन टीवी न्यूज चैनलों के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दायर करने का फैसला किया था।

और पढ़े -   झारखंड हत्याकांड पर पत्रकार सागरिका घोष ने कहा - भारत सरकार जागो, भीड़ मुसलमानों को मार रही

मजिस्ट्रेट जांच में पाया गया था कि इन न्यूज चैनलों ने जेएनयू में पिछले दिनों हुए एक विवादित कार्यक्रम का ऐसा वीडियो प्रसारित किया था, जिससे कथित तौर पर छेड़छाड़ की गई थी। गौरतलब है कि प्रसारित किए गए वीडियो में जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को भी दिखाया गया था।

दिल्ली सरकार की कानूनी टीम को आदेश दिया गया था कि वह उन तीन चैनलों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करे, जिनके नाम का जिक्र नई दिल्ली जिले के जिलाधिकारी (डीएम) की रिपोर्ट में किया गया था।

और पढ़े -   शेहला रशीद पर भद्दा ट्वीट करने वाले अभिजीत को प्रशांत भूषण ने बताया संप्रदायिक ठग कहा, सिंगर के फोलोवर है मोदी भक्त

इस रिपोर्ट के आधार पर दिल्ली सरकार ने अपनी कानूनी टीम को उन तीन चैनलों के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दायर करने का निर्देश दिया था, जिन्होंने जेएनयू के छात्र नेता कन्हैया कुमार के बारे में ऐसे वीडियो प्रसारित किए जिनसे कथित तौर पर छेड़छाड़ की गई थी।

साभार: hindkhabar.in


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE