image credit : ANI

नोयडा | बुधवार को जेवर-बुलंदशहर हाइवे पर हुई गैंगरेप की घटना में नया मोड़ आ गया है. बदमाशो पर रेप का आरोप लगाने वाली चारो महिलाओ की मेडिकल रिपोर्ट में ऐसा कोई भी सबूत नही मिला है जिससे रेप की पुष्टि हो सके. हालाँकि आगे की जांच के लिए लैब सैंपल लखनऊ भेजने का फैसला लिया गया है. खुद चीफ मेडिकल ऑफिसर और शहर के एसएसपी ने इस बात की पुष्टि की है.

चीफ मेडिकल ऑफिसर ए भार्गव ने प्रेस कांफ्रेंस कर महिलाओ की मेडिकल रिपोर्ट के बारे में जानकारी दी. उन्होंने कहा की महिलाओं के प्राइवेट पार्ट में किसी भी तरह के चोट के निशान नही मिले है. इसके अलावा उनके कपड़ो पर भी वीर्य के दाग नही है. उधर गौतमबुद्ध नगर के एसएसपी लव कुमार ने भी इस बात मोहर लगाते हुए कहा की मेडिकल रिपोर्ट के हिसाब से जो रेप के लक्षण होते है वो अभी तक नही मिले है.

लव कुमार ने पत्रकारों को बताया की पुलिस 24 घंटे पीडितो के साथ है. घटना के बारे में बताते हुए लव कुमार ने कहा की पूरी वारदात के दौरान बदमाशो को लक्ष्य केवल लूटपाट था. वैसे हम इस मामले की जांच रंजिश और एक्सल ग्रुप के आधार पर भी कर रहे है. गौरतलब है की बुधवार को यमुना एक्सप्रेस वे के नजदीक बुलंदशहर-जेवर हाईवे पर बदमाशो ने एक परिवार के साथ लूटपाट की.

रात के करीब डेढ़ बजे आधा दर्जन बदमाशो ने एक इको गाडी के टायर में गोली मारकर उसको पंचर कर दिया. इस गाडी में करीब 8 लोग सफ़र कर रहे थे. पंचर होने के बाद बदमाशो ने गाड़ी को घेर लिया और करीब 50 हजार रूपए और लाखो रूपए की ज्वेलरी लूट ली. इस दौरान उन्होंने परिवार की महिलाओं के साथ छेड़खानी की. जिसका विरोध करने पर उन्होंने एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी. आरोप है की इसके बाद बदमाशो ने चार महिलाओ के साथ बलात्कार भी किया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE