गुरुवार को दिल्ली हाई कोर्ट में अरुण जेटली v/s अरविंद केजरीवाल मानहानि मामले में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली और वरिष्ठ अधिवक्ता राम जेठमलानी के बीच तीखी बहस देखने को मिली. दरअसल बहस के दौरान जेठमलानी ने जेटली को अपराधी तक कह दिया. जिसके जवाब में उन्होने मानहानि की राशि बढ़ा देने की बात कही.

हुआ यूँ कि राम जेठमलानी ने इंडियन एक्सप्रेस में लिखे अपने लेख को अरुण जेटली को दिखाते हुए सवाल किया कि क्या आपने इसे पढ़ा है तो अरुण जेटली के वकीलों ने इस पर आपत्ति जताई. कई बार राम जेठमलानी ने यही सवाल पूछे और फिर अंत में कहा, अरुण जेटली चोर हैं और मैं साबित करूंगा.

और पढ़े -   जजों में दिखे मतभेद , पांच में से तीन जजों ने तीन तलाक को बताया असंवैधानिक

जेटली ने कहा, ‘अगर ऐसा है तो मैं प्रतिवादी (केजरीवाल) के खिलाफ आरोपों को बढ़ा दूंगा.’ उन्होंने कहा कि निजी दुर्भावना की भी एक सीमा है. उन्होंने आगे कहा, “जेठमलानी अपनी खुद की दुश्मनी निकाल रहे हैं. अगर इसी तरह के दुर्भावनापूर्ण सवाल पूछे जाएंगे तो मैं अपनी मानहानि की 10 करोड़ की रकम को बढ़ा सकता हुं.”

गौरतलब है कि जेठमलानी लगातार अपने सवालों में अरुण जेटली के लिए CROOK शब्द का इस्तेमाल कर रहे थे जिस पर जेटली और उनके वकीलों ने सख्त ऐतराज किया था.

और पढ़े -   सरकार लगाने जा रही है एक से अधिक बार हज पर रोक

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE