नई दिल्ली | म्यांमार में रह रहे रोहिंग्या मुस्लिमो के खिलाफ हो रही हिंसा पर भारतीय क्रिकेटर इरफ़ान पठान ने चिंता व्यक्त की है. इसके अलावा उन्होंने दुनिया की सोच पर भी सवाल उठाये है. उनका कहना है की लगता है दुनिया को शांति नही चाहिए. हालाँकि इरफ़ान ने इंसानियत के नाते इस मुद्दे पर अपने विचार व्यक्त किये लेकिन कुछ लोगो को इसमें भी हिन्दू मुस्लिम नजर आने लगे. इसलिए उन्होंने इरफ़ान को ही नसीहत दे डाली.

दरअसल शुक्रवार को इरफ़ान पठान ने रोहिंग्या मुस्लिमो पर हो रही हिंसा के खिलाफ एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा,’ लगता है दुनिया और इसके लोगो ने यह तय कर लिया है की उन्हें शांति नही चाहिए. आज इन्सान सिर्फ दुसरे इंसान को तकलीफ पहुँचाना चाहता है.’ इस ट्वीट के साथ इरफ़ान ने #MyanmarGenocide का भी इस्तेमाल किया. ट्वीट करने के थोड़ी देर बाद ही कुछ लोग इरफ़ान को नसीहत देते हुए दिखाई दिए.

और पढ़े -   बाबरी मस्जिद विध्वंस के 25वे साल 2 लाख 'धर्म योद्धा' उतारेगी विश्व हिन्दू परिषद

एक यूजर ने लिखा की भाई तुम अपने करियर पर ध्यान दो, इस तरह की बहस के लिए और काफी लोग है. वही एक अन्य यूजर लिखता है की कश्मीरी पंडितो पर आप क्यों नही बोलते? जब भी तुम लोग मुंह खोलते हो तो केवल मुसलमानों के लिए ही खोलते हो. वही एक अन्य यूजर ने सवाल किया की रोहिंग्या मुस्लिम शर्णार्थियो को कुछ मुस्लिम देश क्यों शरण देने के लिए तैयार नही है? हालाँकि कुछ लोगो ने इरफ़ान का समर्थन भी किया.

और पढ़े -   नोटबंदी और जीएसटी से जीडीपी पर प्रतिकूल असर पड़ा है: पूर्व पीएम मनमोहन सिंह

एक यूजर ने इरफ़ान का धन्यवाद करते हुए लिखा की हिंसा के खिलाफ आवाज उठाने के लिए आपका शुक्रिया. बताते चले की म्यांमार में कट्टरपंथी बोद्ध और कट्टरपंथी रोहिंग्या मुस्लिमो के बीच हिंसक झडपे चल रही है. अभी 25 अगस्त को भी कुछ हथियारबंद लोगो ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया जिसके बाद पुरे देश में रोहिंग्या मुस्लिमो के खिलाफ हिंसा शुरू हो गयी. बताया जा रहा है की सुरक्षाबल छोटे बच्चो को भी अपनी गोली का शिकार बना रहे है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE