jamia

नई दिल्ली,जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पिछले दिनों दिल्ली पुलिस द्वारा छापा मारने और वीडियोग्राफी करने पर मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गनाइजेशन ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय महासचिव इंजीनियर शुजाअत अली कादरी ने कहा कि आखिर अल्पसंख्यक शैक्षिक संस्थानों में सरकार द्वारा भय का माहौल क्यों बनाया जा रहा है।

आए दिन मुस्लिम अल्पसंख्यक शैक्षिक संस्थानों को निशाना बनाया जा रहा है और वहाँ तालीम हासिल कर रहे छात्रों को परेशान किया जाता है जिससे उनकी शिक्षा प्रभावित होती है।

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमों की सुप्रीम कोर्ट से अपील, तिब्बतियों और तमिलों की तरह हो बर्ताव

शुजाअत अली कादरी ने कहा कि जांच के नाम पर जिस तरह से हथियारों से लैस पुलिस ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया के हॉस्टल में रेड किया उसकी हम निंदा करते हैं और दिल्ली पुलिस व गृह मंत्रालय से मांग करते हैं कि स्पष्ट करें कि हथियारों के साथ जामिया मिल्लिया इस्लामिया के हॉस्टल में पुलिस क्या करने आई थी.और उनका मकसद क्या था।

और पढ़े -   अब नितीश राज में डीएम ने जारी किया फरमान, मोहर्रम से पहले ही पूरा किया जाए दुर्गा प्रतिमा विसर्जन

गौरतलब रहें कि शनिवार को दिल्ली पुलिस ने जामिया  के छात्रावासों का ‘औचक निरीक्षण’ किया था. इस जांच को मुस्लिम संगठनों ने संवैधानिक अधिकारों का उल्लंघन बताया हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE