गाजियाबाद | देश में पुलिस विभाग को जनता की सुरक्षा और सेवा के लिए गठित किया गया था. समाज में कानून व्यवस्था को कायम रखना और दोषियों को गिरफ्तार कर पीड़ित को न्याय दिलाना इस विभाग की जिम्मेदारी थी. लेकिन आज पुलिस विभाग कितनी संजीदगी से अपना काम कर रही है वो किसी से छुपा नही है. देश में पुलिस विभाग के काम काज पर हमेशा से उंगलिया उठती आई है.

इसका जिम्मेदार भी खुद पुलिस महकमा ही है. जनता के साथ उनका व्यवहार इतना रुखा है की कोई भी शख्स पुलिस थाने में अपनी गुहार लेकर जाते हुए घबराता है. वो ऐसे डरता है जैसे उसी ने गुनाह किया हो. संविधान ने देश के हर नागरिक को कुछ अधिकार दिए है. लेकिन पुलिस थाने में जाते ही सारे अधिकार रफू चक्कर हो जाते है. आप ने कानून और अधिकारों की बात की तो समझो आपने पुलिस की नाराजगी मोल ली.

और पढ़े -   मोदी ने जूता पहनकर झंडा फहराया तो शांति, मुस्लिम प्रिंसिपल पर किया गया हमला

एक ऐसी ही घटना गाजियाबाद में घटित हुई है जहाँ पुलिस के दुर्व्यहार का शिकार एक नाबालिग बना. दरअसल फेसबुक पर एक विडियो वायरल हो रही है जिसमे एक नाबालिग लड़का अपने चेहरे पर शर्ट रखे पुलिस थाने में खड़ा हुआ है. उसके चेहरे से लगातार खून टपक रहा है. लेकिन पुलिस बच्चे की सुध न लेकर अपने किसी काम में लगी हुई है.

और पढ़े -   सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान बजने के दौरान नही खड़े हुए तीन कश्मीरी छात्र , मामला दर्ज

बच्चा पुलिसकर्मियों के पीछे पीछे घूम रहा है लेकिन कोई भी उसकी शिकायत का संज्ञान लेता हुआ दिखायी नही दे रहा है. आरोप है की बच्चे के चेहरे पर किसी ने चाकू मार दिया जिसकी शिकायत करने वो थाने पहुंचा था. लेकिन घायल अवस्था में पुलिस थाने आये बच्चे को थाने में कोई भी फर्स्ट ऐड तक नही दी गयी. बाद में बिना एम्बुलेंस बुलाये उसे किसी ऑटो में बैठकर भेज दिया गया. यह विडियो मुदस्सिर मालिक के फेसबुक अकाउंट पर अपलोड की गयी है. इसलिए वौइसहिंदी इस विडियो की सत्यता की पुष्टि नही करता.

और पढ़े -   ट्रिपल तलाक असंवैधानिक नहीं, यह मुस्लिम कानून का अहम् हिस्सा: चीफ जस्टिस खेहर

देखे विडियो

 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE