पाकिस्तान की सैन्य अदालत द्वारा दी गई फांसी की सज़ा का सामना कर रहे कुलभूषण जाधव के मामले को भारत द्वारा अंतराष्ट्रीय न्यायालय में ले जाने को सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज मार्कण्डेय काटजू ने मोदी सरकार की सबसे बड़ी गलती करार दिया हैं.

उन्होंने इस बारें में फेसबुक पर लिखा कि भारत के इस फैसले से पकिस्तान को ख़ुशी मिली होगी. हमने एक व्यक्ति के भविष्य से जुड़े मामले को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में उठा कर सभी तरह के मुद्दों, खास तौर पर कश्मीर विवाद को अंतरराष्ट्रीय मंच पर उठाने का मौका दे दिया है. अब भविष्य में वह इन मुद्दों को अंतराष्ट्रीय मंच पर उठा सकेगा.

और पढ़े -   गोरखपुर हादसा: डीएम की जांच रिपोर्ट में डॉ कफील को मिली क्लीन चिट, प्रिंसिपल को ठहराया गया जिम्मेदार

काटजू ने आगे लिखा कि इस फैसले ने विवादों का पिटारा खोल दिया है. पाकिस्तान ने आईसीजे के क्षेत्राधिकार के सवाल पर बहुत मामूली विरोध किया, क्योंकि उसे इसके बाद दूसरे मुद्दों को यहां पर उठाने का मौका मिलता दिखाई दे रहा था. ऐसे में अब वह निश्चित तौर पर कश्मीर का मुद्दा उठाएगा और भारत इसका विरोध नहीं कर पाएगा.

Serious mistake for India to go to ICJPeople are gloating over India's victory before the International Court of…

Posted by Markandey Katju on Friday, 19 May 2017

उन्होंने इसकी वजह बताते हुए लिखा कि अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के क्षेत्राधिकार पर दो तरह की दलीलें नहीं दी जा सकतीं है.

और पढ़े -   महाराष्ट्र में फडनवीस की पत्नी का कंसर्ट, टिकेट बेचने का जिम्मा पुलिस पर

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE