ak-18

बुधवार देर रात हुए सर्जिकल स्ट्राइक्स के दौरान राष्ट्रीय राइफल का एक जवान गलती से एलओसी पार कर गया था. जिसे पाकिस्तानी सेना न पकड़ लिया है. इस बात की पुष्टि खुद डीजीएमओ रणबीर सिहं ने की हैं.

पकड़ा गया जवान 37 राष्ट्रीय राइफल का हैं जिसका नाम चंदू बाबुलाल चौहान हैं. चौहान को वेस्ट मनकोट के झंडरोट से पाकिस्तानी आर्मी के एक दस्ते ने हिरासत में लिया है ओर उसे निक्याल में पाकिस्तानी के मुख्यालय में रखा गया है.

और पढ़े -   पाकिस्तान की जीत पर ट्वीट करने वाले मीरवाइज उमर को गौतम गंभीर का जवाब, क्यों नही चले जाते बॉर्डर पार?

दरअसल पाकिस्तानी मीडिया ने पाकिस्तानी सेना के हवाले से सर्जिकल स्ट्राइक्स को नकारते हुए खबर दी थी कि ‘भारत द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक्स की खबर झूठी हैं. इसके विपरीत ये दावा किया गया था कि LOC पर भारत की और से गोलीबारी हुई थी जिसके जवाब में पाकिस्तानी फ़ौज ने भी गोलीबारी की. इस दौरान पाकिस्तान के दो सैनिक भी मारे गए. साथ ही 8 भारतीय सैनिको को मारने और एक को जिन्दा पकड़ने का दावा किया गया. हालांकि, भारतीय सेना ने इस दावे को पूरी तरह खारिज कर दिया है.

और पढ़े -   भारत में स्पीड ब्रेकर जान बचाते नहीं बल्कि जान लेते है, हर दिन होती है 30 दुर्घटना और 9 मौत

पाकिस्तान की ओर से इस बारे में यूएन में पाकिस्तान कि एम्बेसडर मलीहा लोधी ने कहा है कि पाकिस्तान आर्मी ने भारतीय सैनिक को पकड़ा है, लेकिन किसी भी तरह की सर्जिकल स्ट्राइक से इंकार किया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE