H-1B वीजा को लेकर डोनाल्ड ट्रंप सरकार के कड़े रुख के चलते भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील भारती मित्तल ने भारत में फेसबुक और व्हाट्सएप पर बैन लगाने की वकालत की हैं.

उन्होंने कहा कि ट्रंप के नेतृत्व में अमेरिका ज्यादा ही संरक्षणवादी हो गया है. ऐसे में भारत को भी फेसबुक और गूगल को सिर्फ इसलिए ना कर देना चाहिए क्योंकि वे दोनों अमेरिकी कंपनियां हैं. उन्होंने कहा कि भारत के आईटी पेशेवरों के लिए वीजा नियम को कड़ा करना उचित नहीं है. क्योंकि एक ये विदेशी कंपनियां अपने यहां देश के आईटी प्रोफेशनल्स के खिलाफ रोक लगाती है तो वहीं दूसरी ओर हमारे देश से मोटा मुनाफा कमाती है.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने SC में दाखिल किया हलफनामा, कहा - रोहिंग्‍या से देश की सुरक्षा को खतरा

मित्तल ने कहा कि उन्हें अमरीका की इस संरक्षणवादी नीति से ज्यादा परेशानी नहीं है. क्योंकि उनका अधिक से अधिक व्यापार हमारे देश में ही है. वीजा नियमों पर विरोध जताते हुए मित्तल ने कहा कि ये विदेशी कंपनियां भारत में अपना कारोबार बढ़ा रही है. ऐसे देश के पेशेवरों को रोकना जायज नहीं है.

मित्तल का कहना कि भारत में फेसबुक के 20 करोड़, व्हाट्सएप के 15 करोड़ इसके अलावा गूगल के 10 करोड़ ग्राहक हैं. वहीं भारत ने अपना खुद एप विकसीत कर लिया है। तो क्या ऐसी स्थिति में इन कंपिनयों पर रोक लगा देनी चाहिए.

और पढ़े -   नोटबंदी और जीएसटी से जीडीपी पर प्रतिकूल असर पड़ा है: पूर्व पीएम मनमोहन सिंह

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE