mo11

केंद्र की मोदी सरकार ने पिछले तीन साल के अपने शासन के दौरान अपनी सरकार के प्रचार के लिए 1100 करोड़ रुपये खर्च कर डाले. इस बात का खुलासा एक आरटीआई में हुआ हैं.

दरअसल ग्रेटर नोएडा के आरटीआई एक्टिविस्ट रामवीर सिंह सूचना का अधिकार (आरटीआई) के जरिए सूचना और प्रसारण मंत्रालय से जानकारी मांगी थी कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के साथ ही अब तक अगस्त 2016 तक विज्ञापनों पर कितना सरकारी धन खर्च हुआ है ?

और पढ़े -   जल्द ही आरबीआई जारी करेगा 200 रुपये का नोट, छपाई भी हुई शुरू

तीन महीने बाद मिले जवाब में सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने जानकारी देते हुए कहा कि ब्रॉडकास्ट, कम्युनिटी रेडियो, डिजिटल सिनेमा, इंटरनेट, दूरदर्शन, प्रोडक्शन, एसएमएस, टेलीकास्ट और अन्य खर्चों सहित पिछले तीन साल में 11 अरब रुपये खर्च हुए.

आरटीआई में मिली जानकारी के अनुसार, 1 अप्रैल 2015 से 31 मार्च 2016 तक 5.42 अरब रुपये और 1 अप्रैल 2016 से 31 अगस्त 2016 तक 1.20 अरब रुपये खर्च किए जा चुके हैं.कुल 1111 करोड़ 78 लाख रुपये से अधिक का सरकारी धन खर्च हुआ हैं.

और पढ़े -   इलाज के लिए कुवैत के सुल्तान पहुंचे हिन्दुस्तान, नोएडा के जेपी अस्पताल में भर्ती

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE