सहारनपुर | बुधवार को हरियाणा के हिसार में मस्जिद के एक इमाम को बजरंग दल के कार्यकर्ताओ की गुंडागर्दी का शिकार होना पड़ा. कश्मीर में अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के विरोध में प्रदर्शन कर रहे बजरंग दल के कार्यकर्ताओ ने इमाम को मस्जिद से बाहर निकालकर न केवल पीटा बल्कि उससे भारत माता की जय और जय श्री के नारे लगाने के लिए भी कहा.

अब इस मामले में पीड़ित इमाम ने अपनी चुप्पी तोड़ी है. इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए पीड़ित इमाम मोहम्मद हारून ने बताया की वह उत्तर प्रदेश के सहारनपुर का रहने वाला है और एक मौलवी है. मंगलवार को वह आम बेचने के लिए हिसार गया था. इसके बाद वह नमाज पढने के लिए मस्जिद चला गया. उस समय वहां चार और लोग मौजूद थे.

और पढ़े -   नोटबंदी और जीएसटी से जीडीपी पर प्रतिकूल असर पड़ा है: पूर्व पीएम मनमोहन सिंह

हारून ने आगे बताया की इसी दौरान वहां बजरंग दल के कार्यकर्त्ता आ गये और मस्जिद के बाहर नारेबाजी करने लगे. तभी कुछ कार्यकर्त्ता मस्जिद में घुस गए और मुझे जबरन मस्जिद से बाहर खींच लाये. इस दौरान उन्होंने मेरे साथ मारपीट की और जबरदस्ती भारत माता की जय और जय श्री राम के नार लगाने के लिए कहा. इस दौरान मैंने उन्हें समझाया की मैं भी आतंकियों और देश के गद्दारों के खिलाफ हूँ.

और पढ़े -   शिंजो अबे का अहमदाबाद में स्वागत तो तिरंगे झंडे से ऊपर पहुंचा बीजेपी का ध्वज, सोशल मीडिया पर बीजेपी की हुई खिंचाई

हारून ने बताया की वो लगातार मुझे थप्पड़ मार रहे थे लेकिन मैं चुपचाप खड़ा था. मैं बेहद डरा हुआ था. यह मेरे मजहबी यकीन का मामला था. उन्होंने मेरे साथ मेरी दाढ़ी और टोपी की वजह से मारपीट की. अगर समय पर पुलिस नही आती तो शायद मेरी जान भी जा सकती थी. हारून ने यह भी बताया की वो पहली बार हिसार गए थे लेकिन इस हादसे के बाद वो बेहद डरे हुए है.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमो को लेकर मोदी सरकार पर बरसे ओवैसी कहा, तस्लीमा को बहन बना सकते हो तो रोहिंग्या मुस्लिमो को भाई क्यों नहीं?

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE