ndtv1

नई दिल्ली | टीवी न्यूज़ चैनल NDTV पर केंद्र सरकार के प्रतिबंध की चारो तरफ आलोचना हुई. देश के लगभग सभी ब्रॉडकास्ट एजेंसी ने, केंद्र सरकार के फैसले की आलोचना की. इसके अलावा NDTV को देश भर से भारी समर्थन मिला. सोशल मीडिया पर NDTV के समर्थन में एक मुहीम चलायी गयी. पत्रकार रविश कुमार द्वारा अपने कार्यक्रम , प्राइम टाइम में इस्तेमाल किया गया जुमला, ‘बागो में बहार है’, सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगा.

और पढ़े -   एक मुस्लिम युवक ने दी चेतावनी कहा, रोहिंगा मुस्लिमो की सुरक्षा नही हुई तो देश में हिन्दू भी नही बचेगा , विडियो वायरल

इन सबकी मेहनत रंग लायी है. पीटीआई के हवाले से मिली खबर के अनुसार , सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने अपना NDTV को एक दिन के लिए ऑफ एयर करने के अपने फैसले को स्थगित कर दिया है. हालांकि यह आदेश अभी कुछ दिनों के लिए होल्ड पर रखा गया है. जानकारों के मुताबिक केंद्र सरकार ने यह कदम इसलिए उठाया है क्योकि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट कल सुनवाई करने वाला है.

जानकारों के मुताबिक केंद्र सरकार को अहसास था की सुप्रीम कोर्ट उनके फैसले को स्थगित कर सकता है. इसलिए कोर्ट में होने वाली किरकिरी से बचने के लिए केंद्र सरकार ने यह फैसला किया. मालुम हो की NDTV ने केंद्र सरकार के प्रतिबंध लगाने के फैसले के खिलाफ आज सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाई थी जिस पर कोर्ट कल सुनवाई करने वाला था.

और पढ़े -   अब नितीश राज में डीएम ने जारी किया फरमान, मोहर्रम से पहले ही पूरा किया जाए दुर्गा प्रतिमा विसर्जन

उधर एडिटर्स गिल्ड जैसी संस्था ने केंद्र सरकार के इस आदेश की तुलना आपातकाल से करते हुए कहा की सरकार , मीडिया की अभिव्यक्ति की आजादी पर प्रहार नही कर सकता. सरकार को यह अधिकार नही है की अगर उसको किसी चैनल की कोई कवरेज पसंद नही आ रही है तो उसका प्रसारण बंद कर दिया जाए. इसके लिए और भी कई रास्ते है. इसके अलावा विपक्ष के तमाम नेताओ ने मोदी सरकार को कठघरे में खड़ा करने हुए कहा था की मोदी सरकार के कार्यकाल में, देश में आपतकाल जैसी स्थिति है.

और पढ़े -   यूके मूल की लड़की के अपहरण और हत्या के आरोप में बीजेपी नेता गिरफ्तार

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE