असम के तेजपुर बेस कैंप से मंगलवार को भारतीय वायु सेना का सुखोई-30 एमकेआई विमान उड़ान भरने के बाद लापता हो गया है. विमान नियमित प्रशिक्षण मिशन पर था. एयरक्राफ्ट में दो पायलट सवार थे.

सलानीबाड़ी एयरफोर्स स्टेशन से सुबह करीब 10.30 पर उड़ान भरने के करीब आधे घंटे बाद उसका रेडियो और रडार संपर्क टूट गया. लापता होने से पहले विमान को तेजपुर से 60 किलोमीटर दूर उत्तर में दौलासंग, अरुणाचल प्रदेश के पास देखा गया था. वायु सेना ने लापता विमान की तलाशी का अभियान शुरू कर दिया है. हालंकि विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने या और कोई जानकारी नहीं मिल पाई है.

और पढ़े -   देश के मौजूदा हालात नाजी जर्मनी से भी बदतर, चल रहा संवैधानिक हॉलोकॉस्ट: चर्च

सोनितपुर जिले के पुलिस अधीक्षक पृथिपाल सिंह ने विमान के लापता होने की पुष्टि की है. हालांकि उन्होंने इससे ज्यादा कोई विवरण नहीं दिया. तेजपुर वायु सेना स्टेशन चीन सीमा से 172 किमी की दूरी पर है.

भारत के पास करीब ढार्इ सौ सुखोर्इ विमान हैं. दो इंजन वाले सुखोर्इ-30 विमान का निर्माण रूस की कंपनी सुखोर्इ एविएशन काॅर्पोरेशन ने किया है. यह विमान हर मौसम में उड़ान भरने में सक्षम है आैर भारतीय एयरफोर्स में अहम स्थान रखते हैं. इसे दुनिया के सबसे अच्छे लड़ाकू विमानों में शुमार किया जाता है. लेकिन इस विमान के साथ पिछले साल कर्इ हादसे हुए हैं

और पढ़े -   डीएम की रोक बावजद मोहन भागवत ने स्कूल में फहराया तिरंगा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE