modi in Brussels

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि जैसा सपना भारत के लिए देखते हैं वैसा ही अपने पड़ोसी मुल्कों के लिए भी देखते हैं. उन्होंने कहा कि अगर पाकिस्तान अपनी सरजमीं से आतंकवाद पूरी तरह खत्म कर ले तो दोनों देशों के संबंध बेहतर हो सकते हैं.

उन्होंने आगे कहा कि ‘पाकिस्तान से संबंध बेहतर करना मेरी सरकार का एजेंडा रहा है और मेरी लाहौर यात्रा इस का स्पष्ट संकेत थी.  प्रधानमंत्री ने कहा, अगर पाकिस्तान खुद की लगाई हुई आतंकवाद की बाधा को हटा दे तो दोनों देशों के रिश्ते ज्यादा बुलंदी पर होंगे. ‘इस दिशा में हम पहला कदम उठाने को तैयार हैं लेकिन शांति की राह एकतरफा नहीं है. हम चाहते हैं कि पाकिस्तान भी अपने हिस्से का काम करे और जिम्मेदारी निभाए.’

और पढ़े -   चीन की भारत को चेतावनी कहा, किसी भ्रम में न रहे भारत, पहाड़ हिल सकता है हमारी सेना नही

उन्होंने कहा कि एक-दूसरे से लड़ने के बजाय भारत और पाकिस्तान को मिलकर गरीबी के खिलाफ लड़ना चाहिए. लेकिन भारत आतंकवाद के मुद्दे पर कोई समझौता नहीं करेंगा. यह तभी रुक सकता है, जब आतंकवाद को दिया जाने वाला हर प्रकार का समर्थन बंद किया जाए, फिर चाहे वह सरकार प्रायोजित आतंकवाद हो या दूसरी तरह का आतंकवाद.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE