img_2329-copy-620x330

कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय में महानिदेशक रहे बीके बंसल और बेटे की आत्‍महत्‍या के बाद उनका कथित ‘सुसाइड नोट’ सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है.. इस सुसाइड नोट में सीबीआई पर ‘घिनौनी कार्रवाई’ का आरोप लगाते हुए सवाल किया कि ‘मुझे गिरफ्तार करते, मेरी पत्नी और बेटी के साथ इतना गंदा व्यवहार क्यों किया?’

बंसल ने नोट में आरोप लगाते हुए लिखा कि उनकी गिरफ्तारी के बाद 18 जुलाई रात डीआईजी संजीव गौतम के आदेश पर एसपी अमृता कौर और डीएसपी रेखा सांगवान सहित अन्य सीबीआई कर्मियों की टीम उनके घर पहुंची। उनकी बेटी और पत्नी को रातभर टॉर्चर किया। पत्नी के साथ मारपीट भी की गई।
उन्होंने डीआईजी पर आरोप लगाया कि मेरे सामने ही उन्होंने दोनों को जमकर टॉर्चर करने को कहा था। उन्होंने यह कहा था कि इतना टॉर्चर करेंगे की तेरी सात पुश्ते भी सीबीआई को याद रखेंगी। पत्नी और बेटी को हम जिंदा लाश बना देंगे। डीआईजी ने कहा कि मैं अमित शाह का आदमी हूं, मेरा कोई क्या बिगाड़ लेगा।
मैं यह सुसाइड सीबीआई अधिकारियों के टॉर्चर करने की वजह से कर रहा हूं…। दो महीने पहले मेरी पत्नी और बेटी की का मृत हालत में मिलना सुसाइड नहीं, बल्कि सीबीआई द्वारा उनका टॉचर करने के कारण मौत के लिए उन्हें मजबूर करना था।  अपने नोट में बंसल व उनके बेटे ने आरोपी अधिकारियों की सीबीआई डायरेक्टर से जांच करा कड़ी से कड़ी सजा दिलवाने की मांग करते हुए कहा है कि उनके झूठ का सच सामने लाने के लिए उनका ‘लाई डिटेक्टर टेस्ट’ कराया जाए।
बंसल को पिछले साल ही कॉर्पोरेट मामलों के महानिदेशक के पद पर नियुक्त किया गया था। बंसल को एक कंपनी से नौ लाख रुपए रिश्वत लेते हुए पुलिस ने रंगे हाथ गिरफ्तार किया था। सीबीआई ने उनके अपार्टमेंट से 60 लाख रुपए नकद, 20 प्रोपर्टी के दस्तावेज़ और 60 बैंक खातों के दस्तावेज़ बरामद किए थे।

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें