नई दिल्ली। असम के तिनसुकिया में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तरुण गोगोई सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि अगर उनकी सरकार बनी तो असम की सूरत बदल जाएगी। मोदी ने कहा कि उनकी लड़ाई मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के ख़िलाफ़ नहीं बल्कि ग़रीबी और भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ है। उन्होंने ये भी कहा कि आज़ादी के समय असम सबसे सम्पन्न राज्यों में से एक था, लेकिन आज ये सबसे ग़रीब राज्यों में से एक है।

assam-narendra-modi-visit-assam-polls-assam-polls-election-rally

मुझसे असम की चाय पीकर लोग ताज़गी महसूस करते थे  मोदी ने कहा कि जब वह चाय बेचा करते थे तब लोग उनसे असम की चाय पीकर ताजगी महसूस करते थे। इसी वजह से मुझ पर असम का कर्ज है। उन्होंने वोट मांगते हुए कहा गरीबों को शिक्षा, युवाओं को आमदनी और बुजुर्गों को दवाई मुहैया कराकर असम के हालात बदले जाएंगे।

और पढ़े -   स्मृति ईरानी पर भड़के पहलाज निहालानी, कहा - ‘इंदु सरकार’ के चलते मुझे हटाया गया'

असम को बनाएंगे ख़ुशहाल  पीएम मोदी नेकहा कि आजादी के वक्त असम देश के सबसे समृद्ध राज्यों में था। असम के चाय बगान पूरे देश को उर्जावान करते हैं लेकिन आज उसकी ऐसी हालत क्यों हो गई है। उन्होंने वादा किया कि असम के हर गांव तक बिजली पहुंचाई जाएगी।

सर्बानंद लाएंगे आनंद  मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस को आपने उम्मीदों के साथ वोट दिया, लेकिन नतीजा क्या निकला? उन्होंने एक बार बीजेपी की सरकार बनाने का मौका मांगा।  उन्होंने कहा कि असम में आनंद लाने का काम हमारे सर्बानंद करेंगे। पांच सालों में असम को ऐसा बनाएंगे कि लोग बच्चों को ए फॉर असम पढ़ाकर खुश होंगे।

और पढ़े -   गोरखपुर के एडीएम के तार ISI जुड़े होने का संदेह , एटीएस करेगी पूछताछ

शनिवार को 4 रैलियां तिनसुकिया रैली के बाद मोदी साढ़े 12 बजे के आसपास माजूली में दूसरी रैली करेंगे। उन्हें दोपहर दो बजे बिहपुरिया में चुनावी सभा को संबोधित करना है। चौथी और आख़िरी चुनावी सभा को मोदी शाम 6 बजे जोरहट में संबोधित करेंगे।

विजन डॉक्यूमेंट विकास का रोडमैप  वहीं गुवाहाटी में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि यह दस्तावेज असल में असम के विकास का रोडमैप है। उन्होंने कहा कि यह चुनाव कांग्रेस को उखाड़ फेंकने का ऐतिहासिक मौका है।    असम में दो चरणों में 4 अप्रैल और 11 अप्रैल को विधानसभा चुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे।

और पढ़े -   मदरसों में राष्ट्रगान नही गाने की अपील पर मौलाना असजद रजा खान के खिलाफ कोर्ट सख्त , पुलिस से मांगी रिपोर्ट

राज्य में विधानसभा की 126 सीटें हैं। बीजेपी ने राज्य में असम गण परिषद, बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट और दो अन्य छोटी पार्टियों के साथ गठबंधन किया है।  तरुण गोगोई के नेतृत्व में कांग्रेस असम में बीते 15 साल से सत्ता पर काबिज़ है। (Live India)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE