bark

एनडीटीवी की वरिष्‍ठ पत्रकार बरखा दत्‍त के टाइम्‍स नाऊ के एडिटर इन चीफ अरनब गोस्‍वामी पर निशाना साधते हुए अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लिखा है, ‘टाइम्स नाउ मीडिया पर प्रतिबंध लगाने और पत्रकारों पर कार्रवाई करने और उन्हें सजा देने का मांग कर रहा है. क्या ये आदमी पत्रकार है? मुझे शर्म आती है कि मैं उसी पेशे में हूं जिसमें वो है. उसका खुला कायराना पाखण्ड हैरान कर देने वाला है.’

बरखा ने अरनब पर मोदी सरकार की चमचागिरी का आरोप लगाते हुए कहा कि  “वो लगातार प्रो पाकिस्तान डव्स पर ड्रोन गिराता रहा लेकिन बीजेपी और पीडीपी के बीच हुए समझौते के तहत पाकिस्तान और हुर्रियत से बात करने पर बनी आपसी सहमति पर वो चुप रहा. वो खुद मोदी के पाकिस्तान की तरफ हाथ बढ़ाने पर भी चुप रहा. मैं इन दोनों के खिलाफ नहीं हूं लेकिन जब अर्नब इन्हीं विचारों के आधार पर लोगों की देशभक्ति नाप रहे हैं तो वो सरकार के रुख पर क्यों चुप हैं? चमचागिरी?”

और पढ़े -   मोदी सरकार ने विवादित लेखिका तस्लीमा नसरीन का एक साल के लिए बढ़ाया वीजा

barkha

बरखा का यह गुस्‍सा अरनब के न्‍यूज शो को लेकर है. मंगलवार रात अरनब ने अपने शो न्‍यूजआवर में पाकिस्‍तान के लिए हमदर्दी रखने वाले लोगों को निशाने पर लिया था। अरनब का आरोप था कि मीडिया इंडस्‍ट्री के कुछ लोग पाकिस्‍तानपरस्‍त हो चले हैं. उनके मुताबिक, ऐसे लोगों की तलाश करके उनके खिलाफ ट्रायल चलाया जाना चाहिए.

बरखा ने अर्नब के शो में बार-बार अपना नाम लेने पर कहा है कि वो इससे डरेंगी नहीं. बरखा ने लिखा है, “मिस्टर गोस्वामी मैं डर से पीली नहीं पड़ने वाली और आप अपने शो में प्रत्यक्ष या परोक्ष तरीके से चाहे जितनी बार मेरा नाम लें, मैं आपकी राय की जरा भी परवाह नहीं करती. मुझे उम्मीद है कि मैं हमेशा ऐसी पत्रकार बनी रहूंगी जिसकी पत्रकारिता की आप खिल्ली उड़ाते हैं, क्योंकि इस मामले में हम दोनों की भावनाएं एक समान हैं. किसी मुद्दे पर हम दोनों एक ही पक्ष में नज़र आए तो यकीन मानिए मेरी जान ही निकल जाएगी.”

और पढ़े -   असम में पाकिस्तान का झंडा फहराने पर एक शख्स की जमकर हुई पिटाई, झंडे पर पेशाब करने के लिए भी डाला दबाव

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE