mir-v

कश्मीर में पिछले करीब तीन महीनो से चल रही हिंसा के बीच हुर्रियत कांफ्रेंस के उदारवादी के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक ने संयुक्त राष्ट्र और आॅर्गनाइजेशन आॅफ इस्लामिक कोआॅपरेशन (आईआईसी) से मांग की हैं कि वे कश्मीर मुद्दे के हल भारत पर बातचीत के लिए दबाव बनाएं

पिछले 24 दिनोंं से चश्मा शाही उपकारागार में बंद अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक ने इस बातचीत में सभी पक्षकारोंं को शामिल करने के साथ बिना शर्त बातचीत की बात कही हैं. इसके अलावा उन्होंने ओआईसी को कहा कि हुर्रियत कांफ्रेंस का मानना है कि हल के तौर-तरीके खोजने का वैकल्पिक रास्ता बातचीत ही हैं.

उन्होंने लिखा है, हम ‘हुर्रियत’ ओआईसी से अनुरोध करते हैं कि वह इसकी मांग का समर्थन करे और संयुक्त राष्ट्र तथा अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अनुरोध करते हैं कि वह सभी पत्रकारों जैसे भारत, पाकिस्तान और कश्मीर के लोगों के साथ खरी, बिना शर्त और पारदर्शी वार्ता करने के लिए भारत पर दबाव बनाए.

गौरतलब रहे कि कश्मीर में जारी हिंसा को आज 73 वा दिन हैं. साऊथ कश्मीर के शोपिंन जिले के गोधापोरा गाँव में हुई हिंसा में 18 वर्षीय युवती की मौत हो गई और 80 लोगो के घायल होने की खबर हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE