नई दिल्ली | राजस्थान और उत्तर प्रदेश में कश्मीरी छात्रों के साथ हुए दुर्व्यवहार की घटना पर गृह मंत्रालय ने चिंता जताई है. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्री को एक एडवाइजरी भेज कश्मीरी छात्रों की सुरक्षा सुनिश्च्ति करने के लिए कहा है. मालूम हो की राजस्थान के चित्तोडगढ में स्थानीय नागरिको ने मेवाड़ यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे कुछ कश्मीर छात्रों के साथ मारपीट की थी.

इसके अलावा उत्तर प्रदेश के मेरठ में भी कश्मीरी छात्रों के बहिष्कार का एलान किया गया है. यहाँ उत्तर प्रदेश नव निर्माण सेना ने जगह जगह पर बड़े बड़े पोस्टर लगाए है जिनमे कश्मीरियों को यूपी छोड़ने का अल्टीमेटम दिया है. साथ ही 30 अप्रैल से कश्मीरियों के खिलाफ अभियान चलाने की भी बात कही गयी है. सेना के संस्थापक अमित जानी ने मेरठ के नागरिको से अपील की है की वो कश्मीरी छात्रों को किराये पर कमरा न दे और दुकानदार उनको सामान न दे.

और पढ़े -   स्वतंत्रता दिवस पर चीनी सेना की लद्दाख में घुसपैठ, भारतीय सैनिकों पर भी किया पथराव

अमित जानी ने सोशल मीडिया पर धमकी देते हुए लिखा की अगर 30 अप्रैल तक सभी कश्मीरियों ने यूपी नही छोड़ा तो वो इनके हाथ पैर तोड़ देंगे. राजस्थान और उत्तर प्रदेश से कश्मीरियों के खिलाफ बढ़ रही नफरत को देखते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्री से कहा है की वो उनके राज्य में रह रहे सभी कश्मीरी युवको की सुरक्षा सुनिश्चित करे.

और पढ़े -   राजदीप सरदेसाई ने किया ऐसा ट्वीट की लोग पूछने लगे, क्या तुम पत्रकार हो?

इसके अलावा राजनाथ ने सभी लोगो से अपील की है की वो कश्मीरी युवको को अपना भाई समझे. उन्होंने कहा की वे (कश्मीरी) भी किसी और भारतीय की तरह ही भारतीय नागरिक है. वे भी इसी परिवार का हिस्सा है. भारत के निर्माण में कश्मीरियों का बड़ा योगदान रहा है इसलिए उनके साथ अच्छा व्यव्हार करे. इसलिए हमने सभी राज्यों को एडवाइजरी भेजी है की जो भी कश्मीरी युवको के साथ बदसलूकी करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाये.

और पढ़े -   राष्ट्रगान और वीडियोग्राफी इस्लाम के खिलाफ, योगी सरकार रद्द करें अपना फैसला

दरअसल चित्तोडगढ की मेवाड़ यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे कुछ कश्मीरी छात्रों की वहां रह रहे नागरिको ने पिटाई कर दी. जिसमे 6 कश्मीरी छात्र घायल हो गए. छात्रों की तरफ से दर्ज करायी गयी एफआईआर में कहा गया की हम कुछ सामान लेने बाजार गए थे की तभी कुछ लोगो ने हमे पत्थर बाज बताते हुए हम पर हमला कर दिया. यही नही उन लोगो ने हमें CRPF जवानों के साथ हुई बदसलूकी के लिए भी जिम्मेदार ठहराया. फ़िलहाल यूनिवर्सिटी के चारो और कश्मीरी युवको की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भरी पुलिस बल तैनात किया गया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE