कोलकाता। पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले मालदा में हुई हिंसा ने सत्तारूढ़ तृणमूल और भाजपा के बीच नए सिरे से राजनीतिक टकराव का मंच तैयार कर दिया है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह 18 जनवरी को हिंसाग्रस्त मालदा का दौरा करेंगे। कल यानि बुद्धवार को ही स्थानीय भाजपा नेताओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने राजनाथ सिंह से मुलाकात कर तृणमूल सरकार के खिलाफ यह शिकायत की थी कि वो हालात से निपटने में नाकाम रही।

rajnath-sigh-said-it-should-not-r

ऐसा माना जा रहा है कि राजनाथ सिंह कालियाचक का भी दौरा कर सकते हैं, जहां पर कुछ दिनों से साम्प्रदायिक तनाव का माहौल है। यहां पर रविवार को पुलिस स्टेशन और खंड विकास कार्यालय में आक्रमण किया गया था। पुलिस ने इस मामले में दो 10 लोगों को गिरफ्तार भी किया है। भाजपा विधायक शामिक भट्टाचार्य को भी पुलिस ने कल तब हिरासत में ले लिया था जब वो कालियचक जा रहे थे।

कालियाचक में 3 जनवरी को एक धार्मिक जलसे के दौरान हिंसा की शुरूआत हुई थी और हालात में नियंत्रण से बाहर हो गये थे। लोगों को कहना था कि एक दक्षिणपंथी सदस्य द्वारा पैगंबर मोहम्मद के बारे में की गई कथित आपत्तिजनक टिप्पणी से लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई है और इसी कारण हालात बेकाबू हो गए थे। इसके बाद से ही असमाजिक तत्वों नें बसों को निशाना बनाना शुरू कर दिया था और एक बीएसएफ वाहन को भी निशाना बनाया था। जिसके बाद उग्र भीड़ ने खालितीपुर रेलवे स्टेशन में भी उपद्रव मचाया था और अंत में इन्होंने कालियाचक पुलिस स्टेशन पर आग लगा दी थी। साभार: जागरण


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें