नई दिल्ली। हरियाणा में जाट आरक्षण के नाम पर हुए उपद्रव पर आज देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में बयान दिया। राजनाथ ने राज्यसभा में कहा कि राज्य सरकार के खुफिया विभाग के पास प्रदर्शन की जानकारी थी लेकिन सरकार की बातचीत की धारणा को मानकर चल रही थी। राजनाथ ने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि राज्य सरकार की आंदोलनकारी समुदाय के नेताओं के साथ लगातार बातचीत जारी थी।

और पढ़े -   राष्ट्रवाद की भावना जागृत करने के लिए JNU में लगे भारतीय सेना का टैंक: वीसी

बोले राजनाथ,

कांग्रेस सांसद कुमारी शैलजा के उठाए गए सवाल पर राजनाथ ने कहा कि तीन सदस्यीय कमिटी इस पूरे मामले की जांच कर रही है, हमें रिपोर्ट का इंतजार है। गृह मंत्री ने बवाल को राज्य सरकार की नाकामी मानने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट से पहले कुछ भी कहना अन्याय होगा। राजनाथ ने कहा, ‘मैं नहीं मानता कि आंदोलन के संबंध में राज्य सरकार की तरफ से कोई गलती हुई होगी।’

और पढ़े -   ईवीएम् छेड़छाड़: महाराष्ट्र जिला परिषद चुनाव में बीजेपी को जा रही थी सभी वोट, आरटीआई में हुआ खुलासा

केंद्र के कदम के संबंध में गृह मंत्री ने कहा कि खट्टर सरकार को वक्त रहते अडवाइजरी जारी कर दी गई थी। (ibnlive)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE