unch

देश की सुरक्षा करते हुए शहीद हुए जवान के अंतिम संस्कार को भी जातिगत भेदभाव का सामना करना पड़ा. जम्मू-कश्मीर के पंपोर में सीआरपीएफ पर हुए हमले में शहीद जवान वीर सिंह के अंतिम संस्कार को ऊंची जाति के लोगों ने इसलिए रोक दिया कि वे नट जाति से आते हैं.

उत्तर प्रदेश के शिकोहाबाद स्थित उनके गांव में सार्वजनिक जमीन पर शहीद वीर सिंह के अंतिम संस्कार के लिए इजाजत देने से इनकार कर दिया.  इसके बाद जिला प्रशासन की दखल के बाद दस वर्ग मीटर की जमीन मुहैया कराई गई.

और पढ़े -   जंतर-मंतर पर दलितों का प्रदर्शन, देशव्यापी स्तर पर अब दलित करेंगे हिन्दू धर्म का त्याग

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पंपोर बॉर्डर पर आतंकी हमले में शनिवार को सीआरपीएफ के आठ जवान शहीद हो गए थे. उन शहीद जवानों में वीर सिंह भी शामिल थे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE