नई दिल्ली: सियाचिन में छह दिन 35 फुट बर्फ के नीचे दबे रहे लांस नायक हनुमंतप्पा की हालत और बिगड़ गई है। हनुमंतप्पा के कई अंग काम नहीं कर रहे हैं। उनके दोनों फेफड़ों में निमोनिया के लक्षण पाए गए हैं। उनके दिमाग तक ऑक्सीजन नहीं पहुंच रहा है।

सियाचिन हादसे में जिंदा बचे जवान हनुमंतप्पा की हालत और बिगड़ी, अगले कुछ घंटे बेहद अहमअगले कुछ घंटे बेहद अहम
दिल्ली में सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में हनुमंतप्पा को दुनिया का बेहतरीन इलाज मुहैया कराया जा रहा है बावजूद उसके उनकी हालत बिगड़ती जा रही है। वह कोमा में हैं। अस्पताल लाए जाने के वक्त से ही उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है। डॉक्टरों के मुताबिक अगले कुछ घंटे उनके लिए बेहद अहम हैं।

क्या हुआ था उस दिन
सियाचिन में जो आफत हमारी पेट्रोल पार्टी पर टूटी उसे कुछ यूं समझिए कि बर्फ का एक बड़ा पहाड़ टूटकर आ गिरा। इस पहाड़ की लंबाई करीब 1000 मीटर और चौड़ाई 800 मीटर थी। इसके टूटते ही बर्फ की बड़ी-बड़ी चट्टानें जवानों पर गिर गईं।

देशभर में प्रार्थना का दौर जारी
लांसनायक हनुमंतप्पा की सलामती के लिए देशभर में प्रार्थना का दौर जारी है। मंदिर से लेकर मस्जिद तक उनके लिए प्रार्थना की जा रही है। इधर, ओडिशा के पुरी बीच पर मशहूर सैंड आर्टिस्ट सुदर्शन पटनायक ने हनुमंतप्पा की 5 फुट ऊंची एक कलाकृति बनाई है। इस पर pray for हनुमंतप्पा, get well soon यानी जल्द स्वस्थ होने का संदेश लिखा है। (NDTV)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें