hajiairport

मोदी सरकार सर्विस टैक्स वसूल करने के लिए नए-नए तरीके आम जनता पर थोप रही है इसी कड़ी में केंद्र सरकार ने मुस्लिमो द्वारा की जाने वाली धार्मिक यात्राओं को भी शामिल कर लिया हैं.

मोदी सरकार प्राइवेट टूर ऑपरेटरों की तरफ से हज और उमरा के लिए जाने वाले मुसलमान तीर्थ यात्रियों से सर्विस टैक्स वसूलने जा रही हैं। अब अब हज और अन्य मुस्लिम तीर्थ स्थलों पर जाने वाले यात्रियों को 13000 रुपये अधिक देना होगा।

मोदी सरकार के इस फैसले पर हज और उमराह की सर्विस देने वाली ट्रेवल्स कंपनियों ने नाराजगी जताते हुवे कहा कि ट्रेवल एजेंसी से हज और उमराह जाने वाले यात्रियों को सर्विस टैक्स से छुट मिलनी चाहिये।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

Related Posts