अगले साल से हाजी समुद्र मार्ग से हज के लिए सऊदी अरब की यात्रा करेंगे. हवाई सफर के विकल्प के तौर पर सरकार केंद्र सरकार 23 साल बाद फिर से समुद्र मार्ग से हज यात्रा शुरू करने जा रही है.

अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘नई हज पॉलिसी के तहत मोदी सरकार की योजना 2018 से समुद्री मार्ग से हज यात्रा का सफर शुरू करने की है. इसके तहत हज यात्रियों को मुंबई से जेद्दा के बीच समुद्री मार्ग से सफर कराया जाएगा. इसमें तीन से चार दिन लगेंगे. जहाज कुल 15 फेरे लगाएगा और एक बार में 5000 यात्री इस सफर पर जा सकेंगे.’

और पढ़े -   स्मृति ईरानी पर भड़के पहलाज निहालानी, कहा - ‘इंदु सरकार’ के चलते मुझे हटाया गया'

दरअसल, 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में सरकार से हज यात्रियों को हवाई सफर पर मिलने वाली सब्सिडी को धीरे-धीरे खत्म करने का निर्देश दिया था. जिस पर सरकार ने इस साल हज यात्रियों के लिए दी जाने वाली सालाना करीब 400 करोड़ की सब्सिडी की राशि घटाकर 200 करोड़ कर दी है. नकवी ने कहा, ‘हम नहीं चाहते कि इसका असर गरीब हज यात्रियों पर पड़े. इसी लिए सरकार नई हज पॉलिसी के तहत समुद्री मार्ग की समीक्षा कर रही है.’

और पढ़े -   नेपाल में आई बाढ़ पर मोदी ने किया ट्वीट, लोगो ने कसा तंजा कहा, बिहार के बारे में भी बोल दो

गौरतलब रहें कि भारतीय हज यात्रियों का समुद्री मार्ग से सफर का रिश्ता काफी पुराना है. एमवी अकबरी नाम के इस जहाज से 1995 में आखिरी बार हज यात्रियों ने मुंबई से जेद्दा के बीच तक का सफर तय किया था. तब तक यह जहाज काफी पुराना हो चुका था, जिसके बाद समुद्री मार्ग से हज यात्रा समाप्त कर दी गई.

और पढ़े -   तीन तलाक: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बोला दारुल उलूम कहा, शरियत में कोई दखलअंदाजी बर्दाश्त नही

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE