विवादित सलाफी धर्मगुरु जाकिर नाईक के स्थायी ठिकाने के बारें में पता चलने के बाद अब भारत सरकार इस मुद्दे को मलेशिया सरकार के सामने उठाएगी. ध्यान रहे जाकिर नाईक इस समय मलेशिया में रह रहा है.

शुक्रवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इस बारें में कहा कि जाकिर नाईक के बारे में मलयेशिया से औपचारिक अनुरोध किया जाएगा. इससे पहले हमें अपने देश के अंदर कुछ कानूनी प्रक्रियाओं का पालन करना होता है. देश के अंदर चल रही यह प्रक्रिया अब खत्म होने वाली है. उन्होंने कहा कि हम अगले कुछ दिनों के अंदर सरकारी स्तर पर मलेशिया से अनुरोध करेंगे.

हाल ही में मलेशिया कीपुत्रा मस्जिद में जाकिर नाइक को देखा गया था. ये मलेशिया की सबसे प्रसिद्ध मस्जिद है. यहाँ पर प्रधानमंत्री नजीब रजाक और अन्य मंत्री सहित कई बड़ी हस्तियाँ आम तौर पर नमाज पड़ने के लिए आती है.

हालांकि जाकिर नाईक को भारत लाना आसन नहीं होगा. दरअसल मलेशियाई उप प्रधानमंत्री अहमद ज़ाहिद हामिदी के बयान से ऐसा ही लगता है. हामिदी ने मंगलवार को संसद से बताया कि पांच साल पहले स्थायी निवास प्राप्त करने वाले नाइक को सरकार कोई स्पेशल ट्रीटमेंट नहीं दे रही है और उसने इस देश में जितना भी समय बिताया है उसमे कोई कानून नहीं तोड़ा है.

उन्होंने कहा कि ऐसे में जाकिर नाईक को हिरासत में लेने या गिरफ्तार करने की कोई वजह नहीं है. साथ ही भारत की तरफ से कोई आधिकारिक अनुरोध भी नहीं मिला है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE