महंगाई से निजात दिलाने के वादे के साथ सत्ता में आई मोदी सरकार महंगाई को काबू करने में नाकाम ही रही. जिसके चलते महंगाई दर में दोगुनी वृद्धि हो चुकी है.

देश के थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) अगस्त महीने में दोगुने होकर 3.24 प्रतिशत रहे. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, “अगस्त 2017 की थोक महंगाई दर 3.24 फीसदी रही है, जबकि जुलाई में यह 1.88 फीसदी थी और अगस्त 2016 में 1.09 फीसदी थी.”

और पढ़े -   दुर्गा प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगाने के ममता सरकार के आदेश पर हाई कोर्ट सख्त, पुछा सत्ता है तो मनमाना आदेश पारित करेंगे

आकड़ो के अनुसार, अगस्त महीने में खाद्य पदार्थों की कीमतें सालाना आधार पर 5.75 प्रतिशत बढ़ी जो जुलाई में 2.15 प्रतिशत रही थी. सब्जियों के दाम 44.91 प्रतिशत बढ़े जबकि जुलाई में यह वृद्धि दर 21.95 प्रतिशत रही.  प्याज के दाम 88.46 प्रतिशत बढ़े, जबकि पूर्व महीने में इसमें 9.50 प्रतिशत की गिरावट आई थी.

परिवहन और संचार क्षेत्रों में भी महंगाई दर बढ़कर 3.71 फीसद हो गई. जो जुलाई में 1.76 फीसद थी. इसके अलावा भोजन, जलपान और मिठाई की श्रेणी में मुद्रास्फीति अगस्त में बढ़कर 1.96 फीसद हो गई.

और पढ़े -   पीएम मोदी का ट्व‍िटर पर गाली देने वालों को फॉलो करने का सिलसिला अब भी जारी

साल-दर-साल आधार पर अगस्त में सब्जियों की कीमतों में 6.16 फीसदी की तथा अनाजों की कीमतों में 3.87 फीसदी की तेजी दर्ज की गई. वहीं, मांस-मछली की कीमत में 2.94 फीसदी की तेजी दर्ज की गई. गैर-खाद्य पदार्थो में ईधन और बिजली के खंड में महंगाई दर बढ़कर 4.94 फीसदी दर्ज की गई.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE