नई दिल्ली | केन्द्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गिरिराज सिंह , हमेशा अपने विवादित बयानों के लिए सुर्खियों में बने रहते है. इस बार भी उन्होंने एक ऐसा बयान दिया है जिस पर सियासी घमासान मचना तय है. गिरिराज ने रमजान के महीने में दी जाने वाली इफ्तार पार्टी पर ही सवाल खड़े कर दिए है. उन्होंने इसे नौटंकी बताते हुए कहा की मुझे इस तरह के आयोजन करने की कोई जरुरत नही है.

ईद के मौके पर न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए गिरिराज सिंह ने उपरोक्त बाते कही. जब उनसे इफ्तार पार्टी में शामिल होने या उसका आयोजन करने को लेकर सवाल पुछा गया तो उन्होंने कहा ,’ हम उस धर्म का निरादर नही करते, मैं बधाई देता हूँ. ईद पर सारे मुस्लिम भाइयो को, लेकिन क्या जरुरत है मुझे इफ्तार देने की? हम उन्हें बधाई देते है लेकिन यह नौटंकी करने की क्या जरुरत है?’

गिरिराज सिंह यही नही रुके उन्होंने उन लोगो पर भी तंज कसा जो मुस्लिम टोपी और गमछा डालकर इफ्तार पार्टी में शिरकत करते है या उनको आयोजित करते है. जब उनसे पुछा गया की आजकल सियासी लोग गमछा डालकर, टोपी पहनकर इफ्तार करते है, यह एक ट्रेंड बन चूका है, इसका जवाब देते हुए गिरिराज ने कहा की इसलिए मैं कहता हूँ की जिस दिन तुष्टिकरण हिन्दू वोट बैंक बन जायेगा उस दिन लोग त्रिपुंड और टिका लगाकर हिन्दुओ के धर्म को मानने लगेंगे और लोगो को बुलाने लगेंगे.

गिरिराज ने हिन्दुओ को विभाजित करने का आरोप लगाते हुए कहा की हिन्दू वोट बैंक नही है, वो सनातन वोट बैंक नही है इसलिए यह सब हो रहा है. गौरतलब है की इसी शुक्रवार को महामहिम राष्ट्रपति ने राष्ट्रपति भवन में इफ्तार पार्टी का आयोजन किया था. लेकिन इस पार्टी में न तो बीजेपी पार्टी से और न ही केंद्र सरकार से कोई मंत्री शामिल हुआ. इस पर सीपीएम् नेता सीताराम येचुरी ने हैरानी जताते हुए कहा की यह पहला मौका है जब इफ्तार पार्टी में केंद्र सरकार का कोई मंत्री शामिल नही हुआ.

देखे विडियो 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE