गुडगाँव | गुडगाँव में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहाँ तीन लोगो ने एक युवती के साथ गैंगरेप करने के बाद उसकी 8 महीने की बेटी को सड़क पर फेंक दिया जिसकी वजह से उसकी मौके पर ही मौत हो गयी. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. यही नही आरोपियों की गिरफ़्तारी के लिए एक एसआईटी का भी गठन किया गया है. इसके अलावा एक महिला एसआई को भी ससपेंड किया गया है.

मीडिया रिपोर्टे के अनुसार 29 मई की रात को पीडिता की अपने पड़ोसियों के साथ झड़प हो गयी जिसके उसने अपनी 8 महीने के बेटी के साथ मायके जाने का फैसला किया. इसके लिए पीडिता ने रास्ते से एक ऑटो किया जिसमे पहले से ही दो शख्स बैठे हुए थे. पीडिता को अकेली देख ड्राईवर ने ऑटो किसी सुनसान जगह पर ले लिया और वहां तीनो आरोपियों ने मिलकर पीडिता के साथ गैंगरेप किया.

उसी समय किसी आरोपी ने पीडिता की 8 महीने की बच्ची को सड़क पर फेंक दिया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी. इसके बाद सभी आरोपी पीडिता को वही छोड़कर फरार हो गए. बच्ची की मौत से अनजान पीडिता ने अपनी बेटी को बाहों में भरे सुबह होने का इन्तजार किया. इसके बाद सुबह होते ही उसने ऑटो लेकर ओल्ड गुडगाँव में अपने ससुराल जाने का फैसला किया.

यही बीच में किसी डॉक्टर ने महिला को बताया की उसकी बच्ची की मौत हो चुकी है. लेकिन फिर भी महिला को डॉक्टर की बातो पर यकीन नही हुआ. गुडगाँव पहुँच महिला अपने ससुर के साथ तुगलकाबाद अपने मायके पहुंची जहाँ उसने बेटी को दुसरे डॉक्टर को दिखाया , उसने भी बच्ची को मृत घोषति कर दिया. इसके बाद महिला मेट्रो में सवार होकर वापिस गुडगाँव आई और पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. हालाँकि पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी लेकिन महिला का आरोप है की पुलिस ने केवल बच्ची की मौत का मामला दर्ज किया है. जबकि गैंगरेप की बात को दबा दिया गया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE