भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को चतुर बनिया बताने पर बापू के पौत्र की प्रतिक्रिया आई है. उन्होंने कहा कि उन्होंने ‘ब्रितानी शेरों’ और देश में ‘सांप्रदायिक ज़हर वाले सांपों’ पर जीत हासिल की थी.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार उन्होंने कहा, जिस व्यक्ति ने ब्रितानी शेरों और सांप्रदायिक ज़हर वाले सांपों पर जीत हासिल की, वह चतुर बनिया से कहीं अधिक था. अमित शाह जैसे लोगों के उलट आज उनका लक्ष्य बेकसूर और कमज़ोर लोगों का शिकार कर रही शक्तियों को पराजित करना होता.

और पढ़े -   गौरक्षकों के डर से पहलू खान के ड्राइवर ने छोड़ा अपना मवेशी पहुंचाने का काम

याद रहे अमित शाह ने गांधी को चतुर बनिया बताते हुए कहा था, अमित शाह ने कहा था, गांधी चतुर बनिया था. गांधी को मालूम था कि कांग्रेस का आगे क्या हश्र होने वाला है, इसीलिए उन्होंने आज़ादी के बाद तुरंत कहा था कि कांग्रेस को बिखेर देना चाहिए. महात्मा गांधी ने नहीं किया, लेकिन अब कुछ लोग उसको बिखेरने का काम समाप्त कर रहे हैं. इसलिए ही कहा था महात्मा गांधी ने, क्योंकि कांग्रेस की कोई आइडियोलॉज़ी ही नहीं थी, सिद्धांतों के आधार पर बनी हुई पार्टी ही नहीं थी.

और पढ़े -   गुजरात दंगो पर झूठ बोलने को लेकर राजदीप सरदेसाई ने अर्नब गोस्वामी को बताया फेंकू

शाह के इस बयान के बाद सियासी पारा चड़ा हुआ है और विपक्ष ने शाह से माफ़ी की मांग की है. विपक्षी पार्टियों ने शनिवार को कहा कि उन्हें इस अपमानजनक बयान को वापस लेने के साथ ही देश से माफी मांगनी चाहिए.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE