नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को साफ किया कि देश में कैसीनोस स्वागतयोग्य नहीं हैं। इसके साथ ही उन्होंने योगगुरु बाबा रामदेव के पतंजलि ग्रुप और श्रीश्री रविशंकर के आर्ट ऑफ लिविंग जैसे संस्थानों को 1,300 द्वीपों पर फैसिलिटीस शुरू करने का आह्वान किया।

रिपोर्ट के मुताबिक, गडकरी ने मुंबई में आयोजित एक इंडस्ट्री कार्यक्रम में कहा, ”हम कैसीनो जैसी चीजों का विरोध करते हैं और मैं इनके लिए अनुमति नहीं दूंगा। लोग भी इस तरह की चीजें बर्दाश्त नहीं करेंगे।” आर्ट ऑफ लिविंग और बाबा रामदेव के काम की तारीफ करते हुए गडकरी ने अपील की कि नए खोले जाने वाले इन आइसलैंड्स में मसाज और आयुर्वेदिक देने के लिए आयुर्वेदिक स्पास शुरू किए जाएं।

गडकरी ने कहा कि ”आयुर्वेदिक और पारंपरिक वेलनेस एक्टिविटीस के अलावा मनोरंजन की सुविधाएं भी शुरू की जानी चाहिए, लेकिन कैसीनो बिल्कुल नहीं।” रिपोर्ट के मुताबिक, देश में कैसीनोस का संचालन एक विवादित विषय रहा है। केवल बीजेपी शासित गोवा और केंद्र शासित दमन और सिक्किम में ही ऐसी जगह हैं, जहां गैंबलिंग का संचालन होता रहा है।

संविधान के मुताबिक, गैंबलिंग और कैसीनोस को मंजूरी देना राज्यों के विषय हैं। आइसलैंड्स में टूरिज्म पोटैंशियल पर आयोजित एक कॉन्फ्रेंस का जिक्र करते हुए गडकरी ने कहा कि सरकार ने 1,300 आइसलैंड्स और 280 लाइटहाउसेस को खोलने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि विदेशियों की तरफ से योग और पारंपरिक भारतीय वैलनेस प्रोग्राम्स की काफी मांग है। यह फॉरेन एक्सचेंज के साथ ही रोजगार के अवसरों में भी बढ़ोतरी करेगा। साभार: न्यूज़ 24


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें