नोटबंदी के फ़ैल होने पर भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि इस सबंध में उन्होंने केंद्र को पहले ही चेता दिया था.

उन्होंने कहा कि फरवरी 2016 में पहली बार उन्होंने सरकार को इससे होने वाले नुकसान को लेकर चेताया था. उन्होंने कहा कि आरबीआई ने केंद्र सरकार को एक नोट भी सौंपा था, जिसमें कुछ जरूरी कदम उठाए जाने को कहा गया था.

रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व गवर्नर राजन अगले हफ़्ते अपनी नई किताब ‎“‎आई डू व्हाट आई डू‎”‎ का विमोचन करने जा रहे हैं, जिसमें उन्होंने उल्लेख किया है कि फ़रवरी 2016 में सरकार से संपर्क करके उन्होंने अपने विचारों से अवगत करा दिया था.

उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से आज कोई भी यह नहीं कह सकता कि यह क़दम आर्थिक रूप से लाभदायक था. टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि नोटबंदी के पीछे की सोच अच्छी थी लेकिन अब निश्चित रूप से कोई ये तो नहीं कह सकता है कि यह आर्थिक रूप से सफ़ल रहा, फिर भी मैं दोबारा यह कहूंगा कि समय बताएगा.

राजन ने किताब में लिखा, बिना पर्याप्त और उचित तैयारी के अगर नोटबंदी की गई, तो उसका क्या असर हो सकता है. उन्होंने फरवरी 2016 में सरकार को बता दिया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE