Preacher-Zakir-Naik

केंद्र सरकार ने जाकिर नाइक पर कारवाई के लिए पूरी तेयारी कर ली हैं.  नाइक पर एनआईए एफआईआर भी दर्ज कर सकती है. केबल टेलिविजन से पीस टीवी को अलग करने से लेकर जाकिर नाइक के इस्लामिक फाउंडेशन को मिलने वाले विदेशी फंड की समीक्षा के आदेश जारी कर दिए गए हैं.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा था, ‘हमने नाइक की स्पीच को संज्ञान में लिया है और जांच का आदेश दिया है.नाइक की स्पीच की सीडी जांच के लिए मंगवाई गई है.’ जाकिर नाइक पर एफआईआर दर्ज करने को लेकर राजनाथ सिंह एनआईए डायरेक्टर जनरल शरद कुमार से विचार-विमर्श कर रहे हैं.  इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन को मिलने वाले विदेश फंड को रोकने के लिए कॉन्ट्रिब्यूशन रेग्युलेशन ऐक्ट के तहत कारवाई पर भी विचार किया जा रहा हैं.

आईबी मिनिस्ट्री की मीटिंग में गृह मंत्रालय, इंटेलिजेंस एजेंसी और एनआईए के प्रतिनिधियों ने देश में पीस टीवी को रोकने के लिए सभी विकल्पों पर विचार किया. जिसके बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने डायरेक्ट केबल ऑपरेटर्स से नाइक के पीस टीवी को ब्लैक आउट करने का फैसला लिया है. साथ ही टेलिजेंस ब्यूरो और एनआईए को पीसी टीवी के कॉन्टेंट की समीक्षा के लिए कहा गया है.

सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौर ने कहा, ‘यदि इसके कॉन्टेंट में किसी भी तरह के प्रसारण नियमों का उल्लंघन पाया गया तो तत्काल ऐक्शन लिया जाएगा. पीस टीवी के सारे उपकरणों को जब्त कर लिया जाएगा.’

नाइक को यूनाइटेड किंगडम, कनाडा और मलयेशिया ने बैन कर रखा है. नाइक का इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन पाकिस्तान के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े जमात-उद-दावा की वेबसाइट पर मजहबी लर्निंग सेंटर के रूप में लिस्टेड है. पिछले साल सऊदी अरब के किंग ने नाइक को किंग फैजल इंटरनैशनल प्राइज से सम्मानित किया था. इस प्राइज में उन्हें 200,000 डॉलर की राशि मिली थी.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें