वाराणसी | प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में पान खाना एक रिवाज की तरह है. यहाँ के लोग पान खाने के बेहद शौक़ीन माने जाते है. अब जहाँ पर पान खाने वाले लोग होंगे वहां पान की पीक तो जगह जगह दिखाई देगी ही. यही बात यहाँ के नगर निगम को रास नहीं आ रही. इसलिए उन्होंने शहर को स्वच्छ रखने के उद्देशय से एक फरमान जारी कर दिया. इस फरमान के तहत अब पान खाकर थूकने पर जुर्माना लगाने की बात कही गयी है.

दरअसल प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र  को साफ़ सुथरा रखने के लिए सफाई अभियान चलाया था. लेकिन शहर में उसका असर कही पर भी दिखाई नहीं दे रहा. अब भी गंदगी ही गंदगी दिखाई दे रही है. अकेले वाराणसी से हर रोज 600 मेट्रिक टन कूड़ा निकलता है. जिसके निष्तारण की कोई योजना नगर निगम के पास नहीं है. ऐसे में लोगो को सड़क पर काम कूड़ा फेंकने से रोकने के लिए नगर निगम ने कुछ फरमान जारी किये है.

वाराणसी नगर निगम ने पान थूकने, कूड़ा करकट थैले में भरकर फेंकने, गन्दा कपडा फेंकने, सड़क पर कूड़े को जलाने वालो पर जुर्माना लगाने का फैसला किया है. नगर आयुक्त नवीन बंसल और साफ करते हुए बताते हैं, ‘गंदगी किसी भी चीज को लेकर हो सकती है पान को लेकर हो सकती हो मुंह में चबाने वाली चीज को लेकर हो सकती है. चाहे गंदा कपड़ा फेंक दिया, कूड़ा करकट भेंक दिया, किसी चीज को जला दिया ये सब गंदगी फैलाने में आती है.

नवीन बंसल ने आगे कहा की हमने इन सभी चीजों पर जुर्माना लगाने का फैसला किया है. पहली बार ऐसा करने पर काम जुर्माना लगाया जायेगा जबकि दोबारा ऐसा करने पर जुर्माने की राशि बढ़ा दी जाएगी। हालाँकि अभी तक नगर निगम ने यह फैसला नहीं किया की पान थूकने  वालो पर कितना जुर्माना लगाया जाएगा और इसकी मॉनिटरिंग कैसे होगी। लेकिन नगर निगम के इस फैसले से पान खाने वालो में काफी रोष है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE