नई दिल्ली। आम जनता से वसूला जाने वाला स्वच्छ भारत टैक्स कहां खर्च हो रहा है और सरकार ने नवंबर 2015 से अब तक कितना टैक्स इकठ्ठा कर लिया है ये वित्त मंत्रालय को नहीं पता है। ये चौकाने वाला खुलासा हुआ है एक आरटीआई से।

गुजरात के गांधीधाम में रहने वाले आरटीआई कार्यकर्ता रविन्द्र सबरवाल ने आरटीआई के जरिए वित्त मंत्रालय से अभी तक वसूले गए स्वच्छ भारत कर के बारे में जानकारी मांगी थी, साथ ही साथ सरकार ने इस कर को कहां कहां खर्च किया है, इस बात की भी जानकारी मुहैया कराने का आग्रह किया था।

और पढ़े -   राजदीप सरदेसाई ने किया ऐसा ट्वीट की लोग पूछने लगे, क्या तुम पत्रकार हो?

लेकिन हैरानी की बात है कि वित्त मंत्रालय ने आरटीआई के जवाब में अब तक वसूले गए कर के हिसाब के बारे में अनभिज्ञता जताई है, वित्त मंत्रालय के पास आम जनता से भारत को स्वच्छ करने के नाम पर वसूले गए कर की कोई भी जानकारी नहीं है। इस पैसे को भारत स्वच्छ करने में कहां कहां खर्च किया जा रहा है, इस बारे में भी मंत्रालय के पास कोई जवाब नहीं है।

और पढ़े -   रोहित वेमुला नहीं थे दलित, आत्महत्या की वजह कॉलेज प्रशासन नहीं: जांच रिपोर्ट

एक और जहां मोदी सरकार ज़ोर शोर से स्वच्छ भारत मिशन के लिए आमजन को जोड़ने के लिए भरसक जतन कर रही है तो वहीं दूसरी और इसी सरकार के मंत्रालय के पास आमजन से स्वच्छ भारत के नाम पर वसूले जा रहे स्वच्छ भारत कर का कोई हिसाब नहीं है। (ibnlive)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE